Tesla की ऑटो ड्राइव कार ने चांद को समझा ट्रैफिक लाइट, ग्राहक ने जताई नाराजगी

Tesla Auto Pilot Drive

नई दिल्ली (पार्थ): Tesla जिसका नाम सुनते ही रफ्तार और एडवांस टेक्नॉलजी का बेहतरीन नमूना दिमाग में आता है, लेकिन हाल ही में घटी एक घटना ने ये स्पष्ट कर दिया है कि कंपनी की कारों में अभी और सुधारों की जरूरत है। खासतौर पर ऑटो ड्राइव मोड पर।

हाल ही में एक चौंका देना वाला वाकिया सामने आया हैं जिसे देख लोगों का कहना है कि टेस्ला की सेल्फ ड्राइव कार के ऑटो-पायलट सिस्टम से उनका भरोसा उठ गया है और लगता है कि इसे अपडेट की जरूरत है।

दरअसल हाल ही में टेस्ला की ऑटो पायलट कार रास्ते में चलते हुए बार-बार धीमे हो रही थी। जांच करने पर पता चला कि ये कार असल में आसमान में दिख रहे चांद को ट्रैफिक लाइट समझ रही थी। इसके चलते कार अपनी स्पीड को बार-बार कम कर रही थी।

बता दें कि बीते दिनों टेस्ला कार खरीदने वाले एक ग्राहक जॉर्डन नेल्सन अपनी ऑटो ड्राइव Tesla कार से रात को कहीं सफर पर जा रहे थे। इस दौरान उन्होनें देखा कि उनकी कार की स्पीड बेवजह बार-बार धीमी हो रही थी। फिर नेल्सन ने अपनी पड़ताल में पाया कि उनकी कार चांद को पीली (Yellow) ट्रैफिक लाइट समझ कर बार-बार अपनी रफ्तार घटा रही थी।

कार में अचानक से आई इस दिक्कत को झेलने वाले नेल्सन ने ट्विटर पर कंपनी के सीईओ एलन मस्क (Elon Musk) को टैग करते हुए एक वीडियो भी पोस्ट की, जिसमें उन्होंने लिखा कि उन्हें अपनी टीम को कार के ऑटोपायलट सिस्टम की जांच करने के लिए कहना चाहिए, ताकि आगे कोई ग्राहक इस तरह बेवजह परेशान ना हो और किसी दुर्घटना की आशंका को भी घटाया जा सके। ऐसा उन्होनें खतरे को भांपकर लिखा क्योंकि किसी छोटी सी गलती से भी किसी की जान पर बन सकती है।


संबंधित खबरें


देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक , टेलीग्राम , गूगल न्यूज़ .