कुछ ऐसी हैं भविष्य में लॉन्च होने वाली कारें, म्यूनिख में दिखी झलक

Electric Car

नई दिल्ली: दुनियाभर में इस समय तेजी से पारंपरिक ईंधन से इलेक्ट्रिक वाहनों की तरफ़ मूव करने की कवायद पर तेजी से काम चल रहा है। जर्मनी के म्यूनिख शहर में चल रहे ऑटो शो में भी इस बात की झलक नज़र आई।

दरअसल, इस ऑटो शो में भी इलेक्ट्रिक कारों का जमकर बोलबाला रहा। बता दें कि कोविड महामारी फैलने के बाद यूरोप में आयोजित ये पहला ऑटो शो था। इस शो में 68 कार कंपनियों ने भाग लिया। वहीं करीब 60 टू-व्हीलर कंपनियों ने भी अपनी बाइकें इस शो में पेश की हैं।

यदि कारों की बात करें तो इस ऑटो शो में मर्सिडीज़, फॉक्सवैगन, डेमलर, बीएमडब्ल्यू, ऑडी, पोर्शे, फोर्ड जैसी दिग्गज कार निर्माता कंपनियों ने भाग लिया। इनमें से अधिकतर ने अपनी-अपनी इलेक्ट्रिक कारें इस शो में पेश कीं, जिनकी रेंज 600 किलोमीटर से भी ज्यादा है।

हालांकि, एक तरफ़ जहां पूरी दुनिया के ऑटोमोबाइल सेक्टर में इलेक्ट्रिक वाहनों की आवश्यकता पर जोर दिया जा रहा है। वहीं कुछ विश्लेषक इन गाड़ियों को उतना बड़ा गेमचेंजर नहीं मानते हैं।

जर्मन ऑटोमोबाइल कंपनी फॉक्सवैगन (Volkswagen) के प्रमुख हर्बर्ट डायस ने रविवार को बयान ज़ारी कर कहा था कि ऑटो उद्योग के लिए इलेक्ट्रिक कारों की बजाय ऑटोनोमस कारें “असली गेमचेंजर” साबित हुईं, खासतौर पर यूरोप में जहां 2035 तक दहन इंजनों को पूरी तरह खत्म करने की रणनीति पर काम किया जा रहा है।

डायस का ये बयान ऑटो सेक्टर में चर्चाओं का विषय बना हुआ है।आईएए कार शो के आधिकारिक उद्घाटन से पहले डायस ने म्यूनिख में कहा, “ऑटोनोमस ड्राइविंग वास्तव में हमारे उद्योग अभूतपूर्व ढंग से बदलने वाला है। इलेक्ट्रिक कारों की तरफ मुड़ना थोड़ा आसान था, बजाय असली गेमचेंजर के जो कि सॉफ्टवेयर और ऑटोनॉमस ड्राइविंग है।”

डायस ने ये भी बताया कि ऑटो सेक्टर पर पर्यावरणीय दबाव बढ़ रहा है। उन्होंने जुलाई में यूरोपीय आयोग द्वारा दिए गए उस प्रस्ताव का भी ज़िक्र किया जिसमें  2035 से नई पेट्रोल और डीजल कारों की बिक्री पर प्रभावी प्रतिबंध लगाने की बात कही गई है।

शुक्रवार को, ग्रीनपीस और जर्मन पर्यावरण एनजीओ डॉयचे उमवेल्थिलफे (DUH) ने कहा कि अगर वे जलवायु परिवर्तन से निपटने के लिए अपनी नीतियों को आगे बढ़ाने में विफल रहते हैं, तो वे फॉक्सवैगन सहित जर्मन कार निर्माताओं के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगे।


संबंधित खबरें


देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक , टेलीग्राम , गूगल न्यूज़ .