Petrol Price: अब पेट्रोल की कीमतों को जाएंगे भूल, भारत सरकार ने ढूंढ लिया है ये नायाब तरीका

Vehicle Fuel Petrol

नई दिल्ली: कोरोना की वजह से आई मंदी और उसके बाद पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगी आग ने आम भारतीय की कमर तोड़कर रख दी है। ऐसे में भारत सरकार एक बिल्कुल नए ईंधन को तैयार करने की योजना पर काम कर रही है। खबरों के मुताबिक अगले कुछ ही दिनों में इस बारे में कोई बड़ा फैसला लिया जा सकता है।

जानकारों का कहना है कि सरकार ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री में फ्लेक्स-फ्यूल इंजन (Flex-fuel Engine) को अनिवार्य करने पर विचार कर रही है। केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने भी इस बारे में इशारा भी दिया है।

बीते दिनों केंद्रीय मंत्री ने कहा है कि सरकार के इस कदम से ना सिर्फ शहरी भारतीयों बल्कि किसानों को भी मदद मिलेगी और भारतीय अर्थव्यवस्था को भी मजबूती मिलेगी।

रोटरी जिला सम्मेलन 2020-21 को वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए संबोधित करते हुए गडकरी ने कहा कि वैकल्पिक ईंधन इथेनॉल (Ethanol) की कीमत 60-62 रुपए प्रति लीटर है, जबकि देश के कई हिस्सों में पेट्रोल की कीमत 100 रुपए प्रति लीटर से ज्यादा है। इसलिए इथेनॉल का इस्तेमाल करने पर भारतीय प्रति-लीटर 30-35 रुपए की बचत कर पाएंगे।

जानकारी ये भी मिल रही है कि केंद्र सरकार अगले दो साल में पेट्रोल में 20 फीसदी इथेनॉल ब्लेंडिंग का लक्ष्य लेकर चल रही है। जिससे देश को महंगे तेल आयात पर निर्भरता कम करने में मदद मिलेगी। हालांकि पहले ये लक्ष्य 2025 तक के लिए निर्धारित किया गया था, लेकिन अब इसकी अवधि को घटाकर 2023 कर दिया गया है।

बता दें कि इथेनॉल एक तरह का अल्कोहल है जिसे पेट्रोल में मिलाकर गाड़ियों में फ्यूल की तरह इस्तेमाल किया जाता है। इथेनॉल का उत्पादन वैसे तो गन्ने से होता है। इसे पेट्रोल में मिलाकर 35 फीसदी तक कार्बन मोनोऑक्साइड कम किया जा सकता है।                                                     


संबंधित खबरें


देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक , टेलीग्राम , गूगल न्यूज़ .