यूपी को मिलने वाला है एक और एक्सप्रेस-वे, 120 की स्पीड से दौड़ेंगी गाड़ियां, जानें विस्तार से

Ganga Expressway

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश को जल्द ही एक और एक्सप्रेसवे मिलने वाला है। ये भारत का दूसरा सबसे बड़ा एक्सप्रेसवे होगा जो यूपी के पूर्वी हिस्से को पश्चिमी हिस्से से जोड़ेगा। इसे गंगा एक्स्प्रेसवे नाम दिया गया है। संभावना है कि ये इस साल सितंबर तक शुरू हो सकता है। खबरों के मुताबिक राज्य सरकार ने पुष्टि कर दी है कि उसने पहले ही एक्सप्रेसवे के लिए आवश्यक 80 प्रतिशत से अधिक भूमि का अधिग्रहण कर लिया है। 36,000 करोड़ रुपये से अधिक की लागत वाली इस परियोजना के अगले 26 महीनों में पूरा होने की उम्मीद है।

और पढ़िए – देश दुनिया  से जुडी खबरे यहाँ पढ़ें

यहां जानें गंगा एक्सप्रेसवे की 10 प्रमुख विशेषताओं के बारे में- 

1. गंगा एक्सप्रेस-वे मेरठ के बिजौली गांव के पास से शुरू होकर प्रयागराज के जुदापुर दांडू गांव में समाप्त होगा। एक्सप्रेसवे मेरठ, हापुड़, बुलंदशहर, अमरोहा, संभल, बदायूं, शाहजहांपुर, हरदोई, उन्नाव, रायबरेली, प्रतापगढ़ और प्रयागराज सहित यूपी के 12 जिलों से होकर गुजरेगा। एक्सप्रेस-वे से 519 गांव जुड़ेंगे।

2. जिलों के लिहाज से बात करें तो- एक्सप्रेसवे की लंबाई मेरठ में 15 किमी, हापुड़ में 33 किमी, बुलंदशहर में 11 किमी, अमरोहा में 26 किमी, संभल में 39 किमी, बदायूं में 92 किमी, शाहजहांपुर में 40 किमी, हरदोई में 99 किमी, उन्नाव में 105 किमी, रायबरेली में 77 किमी, प्रतापगढ़ में 41 किमी और प्रयागराज में 16 किमी रहेगी।

3. प्रस्तावित योजना के अनुसार गंगा एक्सप्रेसवे छह लेन का होगा। हालांकि जरूरत पड़ने पर इसे आठ लेन तक बढ़ाया जा सकता है।

4. गंगा एक्सप्रेसवे पर चलने वाले वाहनों की शीर्ष गति 120 किमी प्रति घंटे तक सीमित कर दी गई है। एक्सप्रेसवे से भविष्य में दिल्ली और प्रयागराज के बीच यात्रा के समय को 10-11 घंटे से घटाकर सिर्फ 6-7 घंटे करने की उम्मीद है।

5. एक्सप्रेस-वे पर गंगा नदी पर करीब एक किलोमीटर लंबा पुल और रामगंगा नदी पर 720 मीटर लंबा दूसरा पुल प्रस्तावित है।

6. कुल मिलाकर, गंगा एक्सप्रेसवे के साथ लगभग 14 बड़े पुल, 126 छोटे पुल, 929 पुलिया, 7 आरओबी, 28 फ्लाईओवर और 8 डायमंड इंटरचेंज होंगे। रेलवे ओवरब्रिज की चौड़ाई 120 मीटर होगी।

7. गंगा एक्सप्रेसवे पर मेरठ और प्रयागराज में स्थित दो मुख्य टोल प्लाजा होंगे। हालांकि रास्ते में 15 रैंप टोल प्लाजा होंगे।

8. वायु सेना के उपयोग के लिए सुल्तानपुर जिले में गंगा एक्सप्रेसवे पर एक हवाई पट्टी भी विकसित की जा रही है।

9. आवारा पशुओं और स्थानीय लोगों की आवाजाही पर रोक लगाने के लिए एक्सप्रेस-वे के किनारे एक कंक्रीट की चारदीवारी का निर्माण किया जाएगा।

10. उत्तर प्रदेश एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण ने कहा है कि गंगा एक्सप्रेसवे परियोजना को समय पर काम पूरा करने के लिए 12 पैकेजों में विभाजित किया गया है। विभिन्न कार्यों की समय-सारणी बनाकर प्रगति की नियमित एवं गहन समीक्षा भी की जायेगी।

और पढ़िए – योगी सरकार की उत्तर प्रदेश के लोगों को बड़ी सौगात, अगस्त तक चालू हो जाएगा यह एक्सप्रेस-वे


संबंधित खबरें


देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक , टेलीग्राम , गूगल न्यूज़ .