Trendinglok sabha election 2024International Women DayIPL 2024News24PrimeMahashivratri 2024WPL 2024

---विज्ञापन---

साल 2024 में कब है मकर संक्रांति, जानें शुभ मुहूर्त, तिथि और पूजा-विधि

Makar Sankranti 2024 : हिंदू पंचांग के अनुसार, साल 2024 में मकर संक्रांति 15 जनवरी को मनाया जाएगा। तो आइए मकर संक्रांति के शुभ मुहूर्त, दान और महत्व के बारे में विस्तार से जानते हैं।

Edited By : Raghvendra Tiwari | Updated: Dec 4, 2023 14:16
Share :
makar sankranti 2024

Makar Sankranti 2024: सनातन धर्म में मकर संक्रांति का विशेष महत्व होता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, मकर संक्रांति के दिन सूर्य देव सभी 12 राशियों के भ्रमण के बाद मकर राशि में प्रवेश करते हैं, तो उस समय मकर संक्रांति का त्योहार मनाया जाता है। मकर संक्रांति को सकरात, लोहड़ी, और, पोंगल आदि कई नामों से जानते हैं।

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, मकर राशि में जब सूर्य देव प्रवेश करते हैं, तो उस समय तिल खाना शुभ होता है। शास्त्र के अनुसार, इस दिन स्नान व दान का भी विशेष महत्व होता है। ऐसे तो प्रत्येक साल 14 जनवरी को मकर संक्रांति का त्योहार मनाया जाता है, लेकिन साल 2024 में 15 जनवरी को मकर संक्रांति मनाना बेहद शुभ रहेगा। हिंदू पंचांग के अनुसार, साल 2024 में मकर संक्रांति का पर्व 15 जनवरी को मनाया जाएगा।

यह भी पढ़ें- साल 2024 में शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या से 3 राशियों पर टूटेगा दुखों का पहाड़

शुभ मुहूर्त

मकर संक्रांति पुण्य काल- सुबह 7 बजकर 15 मिनट से लेकर शाम के 5 बजकर 46 मिनट तक है। अगर अवधि की बात करें, तो पूरे 10 घंटे 31 मिनट तक रहेगी।

मकर संक्रांति महा पुण्य काल- सुबह के 7 बजकर 15 मिनट से लेकर सुबह के 9 बजे तक रहेगा। वहीं महा पुण्य काल की अवधि की बात करें, तो पूरे 1 घंटा 45 मिनट तक रहेगी।

यह भी पढ़ें- कल है काल भैरव जयंती, शुभ मुहूर्त में करें रुद्राभिषेक, महादेव होंगे प्रसन्न

इन चीजों का करें दान

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, इस दिन पुण्यकाल में दान और स्नान करने के बाद चूड़ा, तिल, मिठाई, खिचड़ी सामग्री और गर्म कपड़े दान करने चाहिए। मान्यता है कि इन चीजों का दान करने से सुख-समृद्धि आती है। साथ ही घर में खुशहाली बनी रहती है।

मकर संक्रांति की पूजा विधि

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, मकर संक्रांति के दिन भगवान सूर्य देव उत्तरायण होते हैं। कहा जाता है कि इस दिन से ही मांगलिक कार्य शुरू हो जाते हैं। ज्योतिषियों के अनुसार, मकर संक्रांति के दिन सूर्य देव को अर्घ्य के दौरान जल, लाल फूल, वस्त्र और गेहूं आदि अर्पित करना चाहिए। साथ ही गरीबों को दान भी करना चाहिए।

यह भी पढ़ें- राशि अनुसार काल भैरव जयंती पर करें इन मंत्रों का जाप, बाबा भैरव हो जाएंगे प्रसन्न

डिस्क्लेमर:यहां दी गई जानकारी ज्योतिष पर आधारित है तथा केवल सूचना के लिए दी जा रही है। News24 इसकी पुष्टि नहीं करता है। किसी भी उपाय को करने से पहले संबंधित विषय के एक्सपर्ट से सलाह अवश्य लें। 

First published on: Dec 04, 2023 02:12 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

---विज्ञापन---

संबंधित खबरें
Exit mobile version