Monday, July 6, 2020

Hanuman Jayanti 2020: हनुमान जयंती आज, जानिए पूजा विधि और शुभ मुहूर्त

Hanuman Jayanti 2020: आज मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम के परम भक्‍त हनुमान (Hanuman Jayanti) जिन्हें संकट मोचक भी कहा जाता है का जन्मोत्सव है। मान्‍यता है कि श्री हनुमान ने शिव के 11वें अवतार के रूप में माता अंजना की कोख से जन्‍म लिया था।

Hanuman Jayanti 2020: आज हनुमान जयंती (Hanuman Jayanti) है। आज मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम के परम भक्‍त हनुमान (Hanuman) जिन्हें संकट मोचक भी कहा जाता है का जन्मोत्सव है। मान्‍यता है कि श्री हनुमान ने शिव के 11वें अवतार के रूप में माता अंजना की कोख से जन्‍म लिया था। पवनपुत्र के नाम से प्रसिद्ध हनुमान जी की माता अंजनी और पिता वानरराज केसरी थे। हनुमान जी को बजरंगबली, केसरीनंदन और आंजनाय के नाम से भी पुकारा जाता है।

मान्‍यता है कि श्री हनुमान परम बलशाली और मंगलकारी हैं। श्री हनुमान का नाम लेते ही सारे संकट दूर हो जाते हैं और भक्‍त को किसी बात का भय नहीं सताता है। उनके नाम मात्र से आसुरी शक्तियां गायब हो जाती हैं।

ऐतिहासिक एवं भौगोलिक आधार के अनुसार हनुमान जी का जन्म वर्तमान कर्नाटक प्रदेश में माना गया है। यों तो हनुमान जी की आराधना संपूर्ण भारत में की जाती है परंतु कर्नाटक में जहां भगवान राम की भेंट हनुमान जी से रामायण काल में हुई थी , वहां के निवासी इन्हें अपना आराध्य मानते हैं। कर्नाटक में लगभग हर वाहन पर हनुमान जी का सिंधूरी रंग का चित्र अंकित मिल जाएगा। भारत में हनुमान जयंती भी दो बार मनाई जाता है। प्रत्येक वर्ष हनुमान जयंती चैत्र मास (हिन्दू माह) की पूर्णिमा को मनाई जाती है, हालाँकि कई स्थानों में यह पर्व कार्तिक मास (हिन्दू माह) के कृष्णपक्ष के चौदवें दिन भी मनाई जाती है।

भगवान हनुमान को संकट हरने वाला माना गया है। भगवान हनुमान का दिन मंगलवार माना गया है। इसी दिन इनकी आराधना की जाती है। लेकिन अगर हनुमान जयंती पर ही हम कुछ ऐसे काम करने से हमारे संकट का जल्द ही निवारण हो जाता है।

हनुमान जयंती पूजा मुहूर्त

हनुमान जयंती चैत्र मास की पूर्णिमा तिथि को मनाई जाती है। ऐसे में चैत्र पूर्णिमा ति​थि का प्रारंभ 07 अप्रैल 2020 दिन मंगलवार को दोपहर 12 बजकर 01 मिनट से प्रारंभ हो रहा है। पूर्णिमा तिथि का समापन 08 अप्रैल 2020 दिन बुधवार को सुबह 08 बजकर 04 मिनट पर होगा। ऐसे में हुनमान जयंती बुधवार को मनाई जाएगी।

ऐसेकरेंरामभक्त हनुमान की आराधना

इस दिन हनुमानजी के भक्त अपने आराध्य देव को प्रसन्न करने के लिए व्रत भी रखते है तथा विधि विधान के साथ उनकी पूजा अर्चना भी करते हैं।

इस दिन भक्त हनुमान जी के साथ साथ श्रीराम व सीता मैया की पूजा भी करते है तथा इस व्रत की ख़ास बात यह है कि इस रात को जमीन पर ही सोने की परम्परा हैं। व्रत की पूर्व रात्रि को ज़मीन पर सोने से पहले भगवान राम और माता सीता के साथ-साथ हनुमान जी का स्मरण करें।

  • प्रात: जल्दी उठकर दोबार राम-सीता एवं हनुमान जी को याद करें। जल्दी सबेरे स्नान ध्यान करें।
  • अब हाथ में गंगाजल लेकर व्रत का संकल्प करें।
  • इसके बाद, पूर्व की ओर भगवान हनुमानजी की प्रतिमा को स्थापित करें।
  • अब विनम्र भाव से बजरंगबली की प्रार्थना करें।
  • आगे षोडशोपाचार की विधि विधान से श्री हनुमानजी की आराधना करें।

हनुमान जयंती पर रामचरितमानस के सुन्दरकाण्ड के पाठ को पढ़ना चाहिए। गुड़-चने के प्रसाद का वितरण करना चाहिए। हनुमान चालीसा, रामरक्षा स्तोत्र तथा समस्त हनुमान मंत्र इस दिन सिद्ध होते हैं। हनुमान जी को पान का बीड़ा अवश्य चढ़ाएं। मनोकामना पूर्ति और हर तरह के मंगल के लिए इमरती का भोग लगाना भी शुभ होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Video: पकिस्तान में हिन्दुओं की आस्था पर हमला, ढहा दी निर्माणाधीन कृष्ण मंदिर की दीवार

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के इस्लामाबाद में बनने जा रहे कृष्ण मंदिर को लेकर विवाद बढ़ता ही जा रहा है। यहां मंदिर की नींव को कुछ...

Saptahik Rashifal (6 July to 12 July): इनकी खुल सकती है किस्मत, अपने आप पुरे होंगे सारे काम, जानें- 6 जुलाई से 12 जुलाई...

Saptahik Rashifal (6 July to 5 July): आज से नए सप्ताह की शुरुआत हो रही है। ऐसे में तमाम लोगों में मन में सवाल...

आलिया के बाद मां सोनी राजदान ने किया कमेंट सेक्शन बंद, कहा लोग ऐसा क्यों कर रहे है !

मुंबई : अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत हुई है तबसे हर तरफ नेपोटिज्म का मुद्दा गरमा गया है। इसी वजह से सुशांत के...

कसौटी जिंदगी की’ फेम कुणाल ठाकुर ने शो को कहा अलविदा, सामने आई बड़ी वजह !

मुंबई : टीवी के कई सितारें एक ओर सेट पर वापस लौट रहे हैं तो कई सेट से दूरी बनाने में विश्वास रख रहे...