Tuesday, June 2, 2020

नवरात्रि: महा अष्टमी आज, ऐसे करें मां महागौरी की पूजा, पूरी होगी हर मनोकामना

Chaitra Navratri 2020: महागौरी (Mahagauri) मां दुर्गा का आठवां रूप है। महागौरी भगवान शिवजी की अर्धांगिनी यानी पत्नी हैं। मान्यता है कि इस दिन मां को चुनरी भेंट करने से सौभाग्य की प्राप्ति होती है। साथ ही सच्चे मन से मां की आराधना करने से भक्तों के सभी कष्ट दूर हो जाते हैं।

चैत्र नवरात्रि 2020: आज नवरात्रि 2020 (Chaitra Navratri) का आठवां दिन है। नवरात्रि के आठवें दिन मां महागौरी (Mahagauri) की पूजा आराधना की मान्यता है। महाष्टमी के दिन भक्त देवी की पूजा के बाद कन्या पूजन भी करते हैं। दरअसल नवरात्रि के नौ दिन मां दुर्गा के अलग-अलग नौ रूपों की पूजा की जाती है। पहले दिन माता शैलपुत्री की पूजा की जाती है। दूसरे दिन मां ब्रह्माचारिणी को पूजा जाता है। वहीं तीसरा दिन माता चंद्रघंटा को होता है। जबकि चौथे दिन मां दुर्गा के चौथे स्वरुप माता कूष्माण्डा की पूजा की जाती है। पांचवें दिन मां दुर्गा के 5वें स्वरुप स्कंदमाता की पूजा की जाती है। छठे दिन मां दुर्गा के 6वें स्वरुप कात्यायनी की पूजा की जाती है। जबकि नवरात्रि के सातवें दिन मां दुर्गा के 7वें स्वरुप कालरात्रि (Kalratri) की पूजा की जाती है।

महागौरी (Mahagauri) मां दुर्गा का आठवां रूप है। महागौरी भगवान शिवजी की अर्धांगिनी यानी पत्नी हैं। मान्यता है कि इस दिन मां को चुनरी भेंट करने से सौभाग्य की प्राप्ति होती है। साथ ही सच्चे मन से मां की आराधना करने से भक्तों के सभी कष्ट दूर हो जाते हैं।

मां महागौरी परम कल्याणकारी और मंगलकारी हैं। ये ममता की मूरत हैं और भक्तों की सभी जरूरतों को पूरा करने वाली हैं। महागौरी की अराधना करने से पूर्व जन्म के पाप नष्ट होते हैं। इसके साथ ही इस जन्म के दुख, दरिद्रता और कष्ट भी मिट जाते हैं।

देवी का नाम कैसे पड़ा महागौरी

पार्वती ने भगवान शिव को पति रूप में पाने के लिए कठोर तपस्या की थी जिससे इनका शरीर काला पड़ गया। उनकी तपस्या से प्रसन्न होकर भगवान इन्हें स्वीकार करते हैं और शिवजी इनके शरीर को गंगाजल से धोया। जिससे देवी गौर वर्ण की हो जाती हैं। तभी से इनका नाम गौरी पड़ा। महागौरी रूप में देवी करूणामयी, स्नेहमयी, शांत और मृदुल दिखती हैं।

दुर्गा अष्टमी कथा

सदियों पहले पृथ्वी पर असुर बहुत शक्तिशाली हो गए थे। उन्होंने स्वर्ग में तबाही मचा दी। इन सबमें सबसे शक्तिशाली असुर महिषासुर था। भगवान शिव, भगवान विष्णु और भगवान ब्रह्मा ने शक्ति स्वरूप देवी दुर्गा को बनाया। हर देवता ने देवी दुर्गा को विशेष हथियार प्रदान किया। इसके बाद आदिशक्ति दुर्गा ने पृथ्वी पर आकर असुरों का वध किया। मां दुर्गा ने महिषासुर की सेना के साथ युद्ध किया और अंत में उसे मार दिया। उस दिन से दुर्गा अष्टमी का पर्व प्रारम्भ हुआ।

महा अष्टमी पूजा विधि

  • लकड़ी की चौकी पर या मंदिर में महागौरी की मूर्ति या तस्वीर स्थापित करें।
  • चौकी पर सफेद वस्त्र बिछाकर उस पर महागौरी यंत्र रखें और यंत्र की स्थापना करें।
  • हाथ में सफेद पुष्प लेकर मां का ध्यान करें।
  • मां की प्रतिमा के आगे दीपक चलाएं और उन्हें फल, फूल, नैवेद्य आदि अर्पित करें।
  • देवी मां की आरती उतारें।
  • अष्टमी के दिन कन्या पूजन करना श्रेष्ठ माना जाता है।

महा अष्टमी पूजान के लाभ

  • देवी महागौरी की पूजा करने से कुंडली का कमजोर शुक्र मजबूत होता है। इसी वजह से शादी-विवाह में आई रुकावटों को दूर करने के लिए महागौरी का पूजन किया जाता है।
  • महागौरी को पूजने से दांपत्य जीवन सुखद बना रहता है, साथ ही पारिवारिक कलह क्लेश भी खत्म हो जाता है।
  • मान्यता है कि माता सीता ने श्री राम की प्राप्ति के लिए देवी महागौरी की ही पूजा की थी।
  • विवाह संबंधी तमाम बाधाओं के निवारण में इनकी पूजा अचूक होती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

महाराष्ट्र और गुजरात पर बढ़ा चक्रवाती तूफान ‘निसर्ग’ का खतरा, NDRF की कई टीमें तैनात

नई दिल्ली: कोरोना संकट के बीच देश पर एक नया खतरा मंडरा रहा है। बंगाल और ओडिशा में चक्रवाती तूफान अम्फान की तबाही के...

क्या भारत के नाम से हट जाएगा ‘इंडिया’? सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज

प्रभाकर मिश्रा, नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट आज उस याचिका पर सुनवाई करेगा जिसमें मांग की गई है कि संविधान संसोधन करके इंडिया शब्द हटा...

Aaj ka Rashifal 2 June 2020:  इन राशि वालों को आज रहना होगा सावधान वरना बिगड़ सकते हैं काम, जानें अपना राशिफल

Aaj ka Rashifal 2 June 2020: आज दिनांक 2 जून 2020 और दिन मंगलवार (Mangalwar ka Rashifal) है। आज का दिन सभी 12 राशियों...

‘CHAMPIONS’ से मजबूत होंगे छोटे उद्योग, रोजगार की लग जायेगी झड़ी!

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की मीटिंग में 20 लाख करोड़ के पैकेज और लोकल के लिए वोकल अभियान...