TrendingRam NavamiSurya Tilak Ceremonylok sabha election 2024IPL 2024UP Lok Sabha ElectionNews24PrimeBihar Lok Sabha Election

---विज्ञापन---

Amavasya Ke Upay: 23 नवं. को है अमावस्या, इन टोटकों को करते ही चमक उठेगा भाग्य

Amavasya Ke Upay: अमावस्या को पितरों की तिथि कहा गया है। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार इस दिन मृत आत्माओं एवं पितरों की शांति के निमित्त कई कर्मकांड किए जाते हैं। इस दिन तर्पण तथा श्राद्ध करने का भी अत्यधिक महत्व बताया गया है। इससे पितरों का आशीर्वाद मिलता है और परिवार में सुख-शांति आती है। […]

Edited By : Sunil Sharma | Updated: Nov 21, 2022 16:21
Share :

Amavasya Ke Upay: अमावस्या को पितरों की तिथि कहा गया है। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार इस दिन मृत आत्माओं एवं पितरों की शांति के निमित्त कई कर्मकांड किए जाते हैं। इस दिन तर्पण तथा श्राद्ध करने का भी अत्यधिक महत्व बताया गया है। इससे पितरों का आशीर्वाद मिलता है और परिवार में सुख-शांति आती है।

पंचांग के अनुसार मार्गशीर्ष माह की अमावस्या तिथि 23 नवंबर 2022 (बुधवार) को आएगी। इस दिन किए गए धार्मिक कार्यों से पितरों के साथ-साथ देवता भी प्रसन्न होते हैं। जिनकी जन्मकुंडली में कालसर्पदोष होता है, उनसे भी इस दिन विशेष पूजा करवाई जाती है। जानिए ऐसे ही कुछ उपायों के बारे में जिन्हें आप अमावस्या के दिन कर सौभाग्य का वरदान पा सकते हैं।

यह भी पढ़ें: गुलाब के फूल का यह टोटका पल भर में बदलेगा किस्मत, आप भी आजमा कर देखें

अमावस्या को करें ये काम (Amavasya Ke Upay)

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार अमावस्या के दिन पितरों भूलोक (पृथ्वी) पर आते हैं। अतः इस दिन उनकी सेवा तथा पूजा की जाती है। माना जाता है कि इस दिन किए गए श्राद्ध व तर्पण से उनकी आत्मा को शांति मिलती है। इस प्रकार उनका आशीर्वाद लेकर सौभाग्य पाया जा सकता है। जानिए ऐसे ही कुछ उपायों के बारे में

  • जिनके घर में पितृ दोष होता है, उन्हें इस दिन पितरों के निमित्त तर्पण व श्राद्ध करने की सलाह दी जाती है। ऐसा करने से पितरों की अतृप्त आत्मा संतुष्ट होकर खुशहाली का वरदान देती है।
  • इस दिन ब्रह्म मुहूर्त में भगवान सूर्यदेव का पूजन कर उन्हें तांबे के लोटे से अर्ध्य (जल चढ़ाना) दें। इस उपाय से सूर्य की अनुकूलता प्राप्त होती है। अर्ध्य देने के बाद भगवान से पितृदोष निवार करने की प्रार्थना करें।
  • अमावस्या के दिन पितरों के निमित्त घर में भोजन बनाएं। इसमें सबसे पहले गाय को भोग लगाएं। इसके बाद कुत्ते एवं कौएं को खिलाएं। इसके बाद उस भोजन को किसी गरीब या भिखारी को खिलाएं। अंत में स्वयं भी उसे ग्रहण करें। इससे बहुत लाभ होता है।

यह भी पढ़ें: Ekadashi ke Upay: किसी भी एकादशी पर कर लें ये उपाय, घर में बरसने लगेगा पैसा

  • अमावस्या के दिन घर के पूर्वजों के नाम से पीपल के वृक्ष के नीचे देसी घी का दीपक जलाना चाहिए। यथाशक्ति उनके नाम से भिखारियों तथा पशु-पक्षियों को भी भोजन, वस्त्र आदि दान देने चाहिए।
  • इस दिन घर में श्रीमद्भागवत गीता का पाठ करवाना चाहिए। इसके साथ ही घर में नाना प्रकार के दोषों की शांति के लिए हवन भी करवाना चाहिए। इससे घर की समस्त नेगेटिव एनर्जी खत्म होती है और भूत-प्रेत आदि शक्तियों से मुक्ति मिलती है।

अमावस्या पर भूल कर भी न करें ये काम

  • अमावस्या के दिन को अत्यन्त पवित्र माना गया है। इस दिन भूल कर भी तामसिक भोजन (मांस, मछली, अंडा आदि) नहीं करना चाहिए। इस दिन किसी तरह का नशा (तंबाकू, शराब आदि) भी नहीं लेना चाहिए। किसी भी भिखारी, बुजुर्ग, स्त्री, अपाहिज, बीमार या पशु-पक्षी को पीड़ा नहीं पहुंचानी चाहिए। ऐसा करने वालों के द्वारा किए गए सभी पुण्य खत्म हो जाते हैं।

डिस्क्लेमर: यहां दी गई जानकारी ज्योतिष पर आधारित है तथा केवल सूचना के लिए दी जा रही है। News24 इसकी पुष्टि नहीं करता है। किसी भी उपाय को करने से पहले संबंधित विषय के एक्सपर्ट से सलाह अवश्य लें।

First published on: Nov 21, 2022 04:21 PM

---विज्ञापन---

संबंधित खबरें
Exit mobile version