पिता का बेटे योगी आदित्यनाथ को संदेश- मुस्लिमों से भेदभाव नहीं करना

देश | March 19, 2017, 6:26 a.m.

नई दिल्ली(19 मार्च): गोरखपुर से सांसद योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश के नए सीएम होंगे। आदित्यनाथ को शनिवार को हुई बीजेपी की विधायक दल की बैठक में सीएम पद के लिए चुना गया। योगी के सीएम चुने जाने के बाद उनका परिवार भावुक हो गया। उत्तराखंड में रह रहे योगी के पिता आनंद स‍िंह बिष्ट ने कहा, ''आज मैं बहुत खुश हूं। मुझे अपने बेटे पर गर्व है। बच्चे अपनी इच्छा से ही काम करें, तो वही ठीक है।''


- एक मीडिया हाउस से बात करते हुए उन्होंने कहा कि महंत अवैद्यनाथ के लक्षण योगी में भी आ गए हैं। मैंने भी उसे समझाया कि सर्व सम्भाव रखो। अब तुम बड़े पद पर हो। क‍िसी से बुरा व्यवहार न करो। मुसलमानों से भेदभाव न करो।


- वहीं, जब योगी की मां से सवाल क‍िया गया क‍ि आपका बेटा सीएम बन गया है, आपको कैसा लग रहा है ताे वे भावुक हो गईं। उन्होंने स‍िर्फ स‍िर ह‍िलाकर कहा- अभी योगी से बात नहीं हुई है। उनका योगी से बहुत लगाव रहा है।


- वहीं, छोट भाई महेंद्र मोहन बिष्ट ने बताया, ''मैं काफी छोटा था। बचपन की यादें पूरी तरह से याद भी नहीं हैं। हां, जब होश संभाला तो वे महंत बन चुके थे। वे पहले से ही घर में कम रहे। हमारे अंदर भी डर की भावना रहती थी। मैं उनसे 14-15 साल छोटा हूं।''


- वहीं, इस सवाल पर क‍ि पूरी फैमिली गोरखपुर या द‍िल्ली में क्यों नहीं सेटल हो गई, महेंद्र ने कहा, ''ऐसा होता तो शायद हमारा लोगों से जुड़ाव हो पाता। अगर यहां से सब पलायन कर जाएं तो फिर पहाड़ों में कौन रहेगा। उत्तराखंड बनाने का उद्देश्य ही यही था कि लोग यहां रहें। हमारी र‍िश्तेदारी गांव में ही है। पिता जी ने भी यही कहा क‍ि हम यहीं रहेंगे। साधारण परिवार से यहां तक पहुंचना बड़ी बात है।''


- उधर, योगी से 2 साल बड़े उनके भाई मनेंद्र मोहन बिष्ट भी बात करते हुए भावुक हो गए। उन्होंने कहा, ''मेरे उनसे अच्छे संबंध हैं। उन्होंने कभी नहीं बताया कि वे संत बनेंगे। हमें तो 6 महीने बाद इस बारे में पता चला। अभी चुनाव के दौरान भी योगी यहां आए थे। दो दिन रुके थे। वे गंभीर स्वभाव के हैं। हम भी उन्हें महाराज जी कहते हैं।''


Related news

Don’t miss out

News