आजादी के बाद का सबसे बड़ा झूठ ''धर्मनिरपेक्षता'' शब्द : योगी आदित्यनाथ

देश | Nov. 14, 2017, 11:06 p.m.

नई दिल्ली ( 14 नवंबर ):  उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कांग्रेस पर पहली बार बड़ा वार किया है। उन्होंने 'सेक्युलरिज्म' (धर्मनिरपेक्षता) शब्द को सबसे बड़ा झूठ करार देते हुए कहा कि इस शब्द का प्रचार-प्रसार करने वालों को देश से माफी मांगनी चाहिए।

योगी ने सोमवार को राजधानी रायपुर में एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि उनका यह मानना है कि भारत के अंदर आजादी के बाद का सबसे बड़ा झूठ धर्मनिरपेक्षता है। इसने भारत की अपूरणीय क्षति की है। योगी ने कहा, ‘इस शब्द को जन्म देने वाले और बार बार इसका इस्तेमाल करने वाले लोगों को भारत की जनता से माफी मांगनी चाहिए।’ जिन्होंने इस शब्द को जन्म दिया या बार-बार इसका इस्तेमाल करते हैं।

योगी के इस बयान के बाद वहां तालियां बजने लगी। योगी ने कहा कि धर्म कर्तव्य, नैतिक मूल्यों और सदाचार का पर्याय है और इसकी जगह धर्मनिरपेक्षता आती है तो ये किसी को कर्तव्य से निरपेक्ष करना, सदाचार से दूराचारी बनाना है। उन्होंने आगे कहा कि नैतिक मूल्यों से निरपेक्ष किसी व्यक्ति और समाज को करने से वो पतन की पराकाष्ठा होती है। उन्होंने कहा कि मैं पंथ निरपेक्ष हो सकता हूं धर्म निरपेक्ष नहीं।

Related news

Don’t miss out

News