Download app
We are social

अमेरिका का सीरिया पर वॉरप्लेन्स से हमला


नई दिल्ली(19 मई): अमेरिका ने सीरियाई सैनिकों पर पहली बार वॉरप्लेन्स से हमला किया। बता दें इससे पहले अप्रैल में सीरिया में गैस लीक हादसे में 100 लोग मारे गए थे। इसके बाद अमेरिका ने एक एयरबेस को निशाना बनाकर 59 टॉमाहॉक मिसाइलें दागी थीं।


- गुरुवार को आईएसआईएस के हमले में 50 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी। आईएसआईएस आतंकियों ने सरकार के कब्जे वाले दो गांवों पर ये हमला किया था।


- अमेरिकी रक्षा अधिकारी के मुताबिक, हमारे वॉरप्लेन्स ने जॉर्डन बॉर्डर के करीब सीरियाई सरकार की समर्थक फौजों को निशाना बनाया।


- अधिकारी के मुताबिक, "जिस काफिले पर हमला किया गया, उसने तमाम वॉर्निंग के बाद कोई रिस्पॉन्स नहीं दिया। इसी के बाद हमने हमले का फैसला लिया। सरकार समर्थित फौजें, अल-तनाफ इलाके में अमेरिकी कोएलिशन फोर्सेस के नजदीक ही थी। इस इलाके में ब्रिटिश और अमेरिकी कमांडोज लोकल फोर्सेस जो आईएसआईएस से लड़ने की ट्रेनिंग दे रहे थे।"


- पेंटागन चीफ जेम्स मैटिस ने कहा, "हमले के बावजूद अमेरिका की सीरियाई सिविल वॉर में ज्यादा दखलअंदाजी की कोई योजना नहीं है। लेकिन हम अपने सैनिकों की सुरक्षा जरूर करेंगे।"


- उधर, एक सीरियाई ह्यूमन राइट्स मॉनिटर ने कहा कि अमेरिकी हमले में 8 लोग मारे गए और 4 व्हीकल तबाह हो गए।


Related news

Don’t miss out