उत्तर कोरिया पर हमले का अभ्यास, अमेरिका ने उड़ाए बमवर्षक

दुनिया | Dec. 6, 2017, 7:53 p.m.

नई दिल्ली ( 6 दिसंबर ): उत्तर कोरिया और अमेरिका के बीच जुबानी जंग और तनाव चरम पर है। दोनों देश एक-दूसरे को लगातार धमका रहे हैं। इससे कोरियाई प्रायद्वीप में तनाव बढ़ता जा रहा है। इस बीच अमेरिका और दक्षिण कोरिया की वायु सेनाओं के चल रहे संयुक्त अभ्यास में बुधवार को अत्याधुनिक अमेरिकी बी-1 बी बमवर्षकों ने कोरियाई प्रायद्वीप के ऊपर से उड़ान भरी। बमवर्षकों ने उत्तर कोरिया पर हमले का पूर्वाभ्यास किया। उत्तर कोरिया द्वारा लंबी दूरी की बैलेस्टिक मिसाइल के परीक्षण के बाद दोनों देशों का यह सबसे बड़ा वायुसैनिक अभ्यास हो रहा है। उत्तर कोरिया ने बैलेस्टिक मिसाइल के अमेरिकी शहरों तक पहुंचने का दावा किया है।

बी-1 बी बमवर्षकों ने करीब साढ़े तीन हजार किलोमीटर दूर स्थत गुआम सैन्य अड्डे से उड़ान भरी और युद्धाभ्यास में शामिल हुए। उनका साथ देने के लिए प्रायद्वीप के आकाश में एफ-22 और एफ-35 स्टील्थ फाइटर प्लेन पहले ही मौजूद थे।  यह सैन्य अभ्यास उत्तर कोरिया द्वारा एक सप्ताह पहले किए गए मिसाइल परीक्षण के बाद हो रहा है। उत्तर कोरिया ने अंतर महाद्वीपीय बलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण करने के बाद दावा किया था कि इस मिसाइल के जद में अमेरिका भी आ गया है। 

उत्तर कोरिया से युद्ध की बढ़ी आशंका के बीच यह युद्धाभ्यास आठ दिसंबर तक चलेगा। इस युद्धाभ्यास से उत्तर कोरिया भड़का हुआ है और उसने इसे अमेरिका का परमाणु युद्ध भड़काने का प्रयास बताया है। इसे संयोग ही कहा जाएगा कि जिस समय यह युद्धाभ्यास चल रहा है उसी समय संयुक्त राष्ट्र की ओर से तनाव कम करने के प्रयास के तहत राजनीतिक मामलों के प्रमुख जेफ्री फेल्टमैन उत्तर कोरिया की राजधानी प्योंगयांग दौरे पर हैं। सन 2012 के बाद संयुक्त राष्ट्र के किसी अधिकारी का उत्तर कोरिया का यह पहला दौरा है। फेल्टमैन अमेरिकी विदेश मंत्रालय के पूर्व अधिकारी हैं लेकिन वह फिलहाल अमेरिका का कोई संदेश लेकर नहीं गए हैं।

गौरतलब है कि उत्तर कोरिया लगातार दक्षिण कोरिया, अमेरिका तथा जापान को ध्वस्त करने की धमकी देता रहता है। 

Related news

Don’t miss out

News