योगी का ऑपरेशन 'ठोंक डाल', 2017 में किए 921 एनकाउंटर

देश | Jan. 10, 2018, 4:17 p.m.


अशोक तिवारी, लखनऊ (10 जनवरी):
योगी सरकार की सिंघम पुलिस बदमाशों पर कहर बरपा रही है। योगी की सिंघम पुलिस मार्च 2017 से अबतक 921 एनकाउंटर कर 31 बदमाशों को ढेर कर चुकी है। एनकाउंटर में अब तक दो हजार दो सौ चौदह बदमाशों को गिरफ्तार किया है। यूपी पुलिस ने गैंगस्टर एक्ट के तहत अब तक बदमाशों की 124 करोड़ की संपत्ति जब्त की है।

योगी सरकार में अब अपराधियों की खैर नहीं। अब उन्हें दौड़ा-दौड़ा कर निशाना बनाया जा रहा है। नाकेबांदी और घेराबंदी कर बदमाशों का सफाया किया जा रहा है। योगी सरकार में उन्हें अपराधियों को ठिकाने लगाने की खुली छूट मिली है। तभी तो वो शहर-शहर, गांव गांव अपराधियों को दौड़ा-दौड़ा कर एनकाउंटर कर रही है।

एक दिन में यूपी पुलिस ने चार जहगों पर बदमाशों को दौड़ा-दौड़ा कर पकड़ा। यूपी पुलिस से बचने के लिए बदमाश आग-आगे थे तो पुलिस पीछा कर उनका सफाया करने में जुटी थी। यूपी का पूर्वी इलाका हो या पश्चिमी उत्तर प्रदेश के खुंखार बदमाश यूपी पुलिस बदमाशों के लिए कहर बनकर बरस रही है।

मंगलवार की रात मेरठ के छठे हुए बदमाश अपनी बेबसी का रोना-रोने लगे। मेरठ के दो इलाकों में यूपी पुलिस ने बदमाशों से लोहा लिया और घेराबंदी कर उन्हें पकड़ लिया। यूपी में योगी सरकार के ऑपरेशन एनकांटर के तहत पश्चिमी इलाके में घेराबंदी की गई। मेरठ के रेलवे रोड पर पुलिस ने लूट की वारदात को अंजाम देकर भाग रहे दो बदमाशों को दौड़ाना शुरू किया और बाद में एक बदमाश को दबोच भी लिया।

मेरठ के ही खानपुर जंगल में यूपी की सिंघम पुलिस ने एक और एनकाउंटर को अंजाम दिया। खानपुर के जंगल में पुलिस और बदमाशों के बीच जबरदस्त मुठभेड़ हुई। पुलिस ने मुठभेड़ के दौरान 10 हजार के इनामी बदमाश चांद को गिरफ्तार किया है।

दरअसल आरोपी चांद ने रात में गश्त कर रही पुलिस पर फायरिंग कर दी थी। पुलिस पर फायरिंग के बाद आरोपी खानपुर के जंगलों की तरफ भाग गया। जिसका पीछा करते हुए पुलिस एक गन्ने के खेत तक पहुंच गई, जहां बदमाश छिपा हुआ था। इसके बाद पुलिस ने आरोपी को गोली मारकर घायल कर दिया और बाद में दौड़ाकर पकड़ लिया। 10 हजार का इनामी बदमाश चांद एक दर्जन से ज्यादा मामलों में वॉन्टेड था।

यूपी पुलिस की मेरठ से शुरू हुई मुठभेड़ मुरादाबाद और सीएम योगी के गोरखपुर तक जारी रही। मुरादाबाद में यूपी की सिंघम पुलिस ने 20 हजारके ईनामी बदमाश को घुटने पर ला खड़ा किया। रात के सन्नाटे में पुलिस और बदमाशों के बीच जमकर गोलीबारी हुई। बदमाशों की गोली से पुलिस के दो जवान भी घायल हो गये, लेकिन पुलिस हार कहां मानने वाली थी। पुलिस ने एनकाउंटर के दौरान 20 हजार के इनामी बदमाश अकबर को सरेंडर करने पर मजबूर कर दिया। पकड़ गय़े इनामी बदमाश अकबर पर 30 से ज्यादा क्रिमिनल केस दर्ज हैं।

मेरठ के रेलवे रोड, खानपुर के जंगल और मुरादाबाद के बाद अब बारी थी योगी के गढ़ गोरखपुर में अपराधियों के सफाये की। मंगलवार की रात सीएम योगी की सिंघम पुलिस ने गोरखपुर में भी ऑपरेशन एनकाउंटर शुरू किया। रात को गश्त कर रही पुलिस को देख बदमाशों ने गोली चली दी और वहां से भागने की कोशिश करने लगे। लेकिन यूपी पुलिस के रौद्र रूप के सामने गोरखपुर का हिस्ट्रीशीटर टिक नहीं पाया। मुठभेड़ के दौरान पुलिस ने कई मामलों में वॉन्टेड अपराधी को धर दबोचा।

यूपी में पुलिस का ताबड़तोड़ एनकाउंटर अपराधियों के लिए साफ इशारा है कि या तो सरेंडर करो या शहर छोड़ दो नहीं तो मारे जाओगे। योगी सरकार की सिंघम पुलिस अब तक 921 एनकाउंटर कर चुकी है। इसमें से पिछले साल के आखिर तक बदमाशों से 895 एनकाउंटर हुए। एनकाउंटर में पुलिस ने अबतक 31 खुंखार अपराधियों को मार गिराया है

बदमाशों के साठ मुठभेड़ में यूपी पुलिस ने पिछले साल मार्च से अब तक करीब 2214 अपराधियों को गिरफ्तार किया है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मेरठ जोन में ही पुलिस ने करीब 359 एनकाउंटर को अंजाम दिया है। साल 2017 में जिन 26 अपराधियों को पुलिस ने मार गिराया गया, उनमें से 17 सिर्फ मेरठ जोन के थे। गैंगेस्टर एक्ट के तहत यूपी पुलिस ने बदमाशों की अब तक 124 करोड़ की संपत्ति जब्त की है।

इसके साथ ही पुलिस ने नोएडा, गाजियाबाद, हापुड़, बुलंदशहर, सहारनपुर, मुजफ्फनगर, शामली, बागपत और बिजनौर में भी बदमाशों का एनकाउंटर किया। योगी की सिंघम पुलिस अगर इस तरह अपराधियों की धरपकड़ और सफाया करती रही तो यूपी बदमाशों के सफाये और एनकाउंटर के मामले में अव्वल साबित हो जाएगा।

एक तरफ योगी सरकार जहां बदमाशों का एनकाउंटर कर लोगों की तारीफ बटरो रही है। तो वहीं यूपी में ताबोड़तोड़ हुए एनकाउंटर ने मानवाधिकार संगठनों के कान खड़े कर दिए हैं। मानवाधिकार आयोग यूपी पुलिस के एनकाउंटर पर सवाल खड़ा कर रहा है। कई मानवाधिकार संगठन यूपी पुलिस के एनकाउंटर को फर्जी बता रहे हैं। लेकिन असल सवाल है इस बात पर है कि एनकाउंर के बाद योगी सरकार में कानून व्यवस्था कितनी दुरुस्त हुई है।

Related news

Don’t miss out

News