उत्तर प्रदेश में डीजीपी को लेकर अब भी संशय बरकरार

देश | Jan. 20, 2018, 6:53 a.m.

लखनऊः (20 जनवरी): यूपी के पूर्व डीजीपी सुल्खान सिंह के कार्यकाल समाप्त होने के बावजूद भी नए डीजीपी ओपी सिंह ने अपना पद नहीं संभाला। सीएम योगी ने तमाम कयासों के बीच ओम प्रकाश सिंह पर भरोसा जताते हुए पुलिस महानिदेशक की कमान का ऐलान किया था। लेकिन अब नए डीजीपी की दौड़ से ओपी सिंह का नाम बाहर हो गया है। 

दरअसल, ओपी सिंह को 3 जनवरी 2018 को अपना पद संभालना था, लेकिन उस दिन के बाद से ही उन्‍होंने अपने नए पद को नहीं संभाला। शुक्रवार को चर्चा रही कि पीएमओ ने नए डीजीपी के लिए ओपी सिंह के नाम पर हरी झंडी नहीं दी है और प्रदेश सरकार से डीजीपी के लिए नए नाम का प्रस्ताव मांगा है। देर शाम, बात निकली कि यूपी सरकार ने ओपी सिंह के नाम का ही प्रस्ताव दोबारा दिल्ली भेजा है। रात में इन चर्चाओं पर विराम लगा और अधिकारियों में सुगबुगाहट शुरू हो गई कि ओपी सिंह को रिलीव करने की फाइल पर पीएमओ से साइन हो गए हैं। 

ओपी सिंह शनिवार को लखनऊ आकर जॉइन कर लेंगे। हालांकि, देर रात प्रमुख सचिव गृह अरविंद कुमार ने स्पष्ट किया कि अभी तक न तो उन्हें ओपी सिंह का प्रस्ताव खारिज होने की कोई जानकारी मिली है और न ही यूपी सरकार ने दोबारा किसी का प्रस्ताव भेजा है। उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि उन्हें अभी तक ओपी सिंह को केंद्र से रिलीव किए जाने की भी कोई जानकारी नहीं मिली है। 

Related news

Don’t miss out

News