Download app
We are social

त्रिवेंद्र सिंह रावत ने यूं तय किया CM की कुर्सी तक का सफर

देहरादून (18 मार्च): उत्तराखंड में भारी बहुमत के बाद अब सूबे की कमान त्रिवेंद्र सिंह रावत संभालेंगे। त्रिवेंद्र सिंह रावत को धर्मेंद्र प्रधान, जेपी नड्डा और श्याम जाजू की मौजूदगी देहरादून में बीजेपी विधायक दल की बैठक में नेता चुना गया।


उत्तराखंड के 9वें सीएम बनने जा रहे त्रिवेंद्र सिंह रावत ने संघ प्रचारक से लेकर सीएम तक के सफर में तमाम उतार-चढ़ाव देखे हैं। सीएम की कुर्सी उन्हें यूं ही नहीं मिल रही। इसके लिए उन्होंने पार्टी में अपनी काबिलियत कई मौकों पर साबित की है। ऐसे जुड़े आरएसएस से रावत करीब 14 साल तक राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े रहे।


56 साल के त्रिवेंद्र सिंह रावत उत्तराखंड के डोइवाला सीट से विधायक है। उनको पार्टी अध्‍यक्ष अमित शाह का करीबी माना जाता है। इस वक्‍त वह पार्टी की झारखंड यूनिट के प्रभारी भी हैं। त्रिवेंद्र सिंह रावत 1983 से 2002 तक RSS के प्रचारक रहे हैं और उस दौरान वह उत्‍तराखंड अंचल और बाद में राज्‍य के संगठन सचिव रहे हैं। वह पहली बार 2002 में डोइवाला सीट से विधायक चुने गए थे। तब से वहां से तीन बार चुने जा चुके हैं। वह 2007-12 के दौरान राज्‍य के कृषि मंत्री भी रहे थे।

Related news