ऐसे बैडमिंटन की सनसनी बनीं साइना, संघर्ष से सफलता तक की कहानी...

खेल | Nov. 14, 2017, 10:21 a.m.

नई दिल्ली (14 नवंबर): भारत की स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल को किसी परिचय की जरुरत नहीं है। साल 2012 में लंदन ओलिंपिक में जब साइना ने बैडमिंटन में भारत के लिए पहला पदक जीता तो पूरा देश खुशी से झूम उठा था। ओलिंपिक में देश के लिए पदक लाना एक खिलाड़ी के लिए सपना होता है जिसे साइना ने पूरा किया। साइना ने लंदन ओलिंपिक में महिला एकल स्पर्धा में कांस्य पंदक जीत कर इतिहास रचा।

हाल ही में साइना ने नागपुर में खेले गए 82वें राष्ट्रीय बैडमिंटन चैंपियनशिप के महिला सिंगल्स के फाइनल में पीवी सिन्धु को 21-17, 27-25 से हराकर ख़िताब पर कब्ज़ा किया। साइना ने तीसरी बार राष्ट्रीय चैंपियनशिप का खिताब अपने नाम किया। इससे पहले साइना ने 2006 और 2007 में ये खिताब जीता था।

आपको बता दें कि साइना पहली ऐसी भारतीय महिला खिलाड़ी हैं जो दुनिया की शीर्ष वरीयता प्राप्त महिला बैडमिंटन खिलाड़ी रही हैं। निजी जिदंगी के बारे में बात करें तो सायना अपने पिता हरवीर सिंह नेहवाल और माता उषा रानी नेहवाल की दूसरी नंबर की बेटी है। उनके माता-पिता दोनों ही स्टेट लेवल के बैडमिंटन प्लेयर रह चुके है इसलिए इनके माता और पिता ने भी इनकी खेल में रूचि देखते हुए इन्हें सपोर्ट किया।

साइना भले ही आज एक सफल बैडमिंटन खिलाड़ी है लेकिन यहां तक पहुंचने के लिए उन्होंने कड़ी मेहनत की हैं। एक इंटरव्यू के दौरान साइना ने खुलासा किया कि जब वह पैदा हुई थी तो मेरी दादी ने कई महीनो तक मेरा मुहं नहीं देखा क्योंकि वो पोती नहीं बल्कि पोता चाहती थी।

साइना कहती है कि मेरे माता पिता कि चूंकि खेल की पृष्ठभूमि रही है, इसलिए दोनों ने मुझे बहुत सपोर्ट किया और ऐसे में जब वो प्रैक्टिस करती थी तो उन्हें स्टेडियम जाने के लिए 25 किलोमीटर का फासला तय करना पड़ता था। लेकिन मेरे लिए यह काम पापा करते थे और वो रोज मुझे सुबह 4 बजे उठाते और उसके बाद मुझे अपने स्कूटर से स्टेडियम लेकर जाते। मेरे जल्दी उठने के कारण यह भी डर रहता था कि कहीं नींद के झोकों की वजह से में स्कूटर से गिर नहीं जाऊं, इसलिए पापा मम्मी को भी साथ ले जाते थे जो पीछे मुझे पकड़कर बैठ जाती थी|

अपने बैडमिंटन करियर में साइना ने कई मेडल जीते, लेकिन इसके पीछे साइना ने कड़ी मेहनत और संघर्ष ही है जो आज वह इस मुकाम तक पहुंची हैं।

Related news

Don’t miss out

News