Download app
We are social

पाकिस्तानी अत्याचारों के खिलाफ सुलगा गिलगिट-बाल्टिस्तान

नई दिल्ली (28 मई): गिलगित-बाल्टिस्तान के स्कार्दू इलाके में पाकिस्तान सरकार के खिलाफ प्रदर्शन का दौर जारी है। प्रदर्शनकारी गिलगित-बाल्टिस्तान से पाकिस्तान के अवैध कब्जे को हटाने की मांग कर रहे हैं। एक प्रदर्शनकारियों का कहना है कि गिलगित-बाल्टिस्तान के हर जमीन के मालिक स्थानीय लोग हैं। कोई मां का लाल ये मिल्कियत स्थानीय लोगों से नहीं छीन सकता है। इस साल मार्च में पाकिस्तान ने गिलगित-बाल्टिस्तान को देश का पांचवा राज्य घोषित किया था, जिसका भारत ने कड़ा विरोध जताया था।

ब्रिटेन की संसद ने गिलगिट-बाल्टिस्तान को भारत का संवैधानिक हिस्सा बताते हुए पाकिस्तान द्वारा इसे अलग प्रांत घोषित करने के प्रस्ताव की निंदा की थी।

ब्रिटेन ने साफतौर पर कहा था कि पाकिस्‍तान ने इस क्षेत्र पर 1947 के बाद से ही अवैध रूप से कब्‍जा जमा रखा है, जबकि यह कानूनी तौर पर जम्‍मू-कश्‍मीर का अभिन्‍न अंग है।

इस संबंध में ब्रिटिश संसद में पेश हुए प्रस्ताव में कहा गया, 'गिलगित-बाल्टिस्तान कानूनी और संवैधानिक रूप से भारत के जम्मू-कश्मीर का हिस्सा है।

Related news

Don’t miss out