दक्षिण भारत में 'पोंगल' की धूम, तमिलनाडु में जल्लीकट्टू का आयोजन

देश | Jan. 14, 2018, 11:24 a.m.

नई दिल्ली ( 14 जनवरी ): पूरे देश में मकर संक्रांति का त्योहार धूमधाम से मनाया जा रहा है। लोगों ने सुबह से ही नदियों में स्नान शुरू कर दिया है। देश के अलग-अलग राज्यों में मकर संक्रांति को अलग-अलग नामों से मनाया जाता है। 

दक्षिण भारत में इस त्यौहार का नाम पोंगल इसलिए है क्योंकि इस दिन सूर्य देव को जो प्रसाद अर्पित किया जाता है उसे पगल कहते हैं। तमिल भाषा में पोंगल का एक अन्य अर्थ भी होता है अच्छी तरह उबालना, दोनों ही रूप में इसका एक ही मतलब है, अच्छी तरह उबाल कर सूर्य देवता को प्रसाद भोग लगाना। 

पोंगल का महत्व इसलिए भी है, क्योंकि यह तमिल महीने की पहली तारीख को आरम्भ होता है। इस पर्व के महत्व का अंदाज़ा इस बात से भी लगाया जा सकता है कि यह चार दिनों तक चलता है। हर दिन के पोंगल का अलग अलग नाम होता है। 

विवादों में रहने वाले जल्लीकट्टू खेल का आयोजन भी तमिलनाडु में किया गया है। दक्षिण भारत में मनाए जाने वाले पोंगल त्योहार पर फसलों की कटाई को दौरान जल्लीकट्टू का आयोजन किया जाता है। दरअसल, जानलेवा माहौल बन जाने के चलते ये खेल अक्सर विवादों में रहा है। 

#WATCH: #Jallikattu event organized in Tamil Nadu's Madurai pic.twitter.com/s9HWo2LXIH

— ANI (@ANI) January 14, 2018

 

Related news

Don’t miss out

News