दिल का दौरा पड़ने से पाक की जानी मानी मानवाधिकार कार्यकर्ता आसमा जहांगीर का निधन

दुनिया | Feb. 11, 2018, 5:43 p.m.

नई दिल्ली (11 फरवरी): पाकिस्तान में जानी मानी मानवाधिकार कार्यकर्ता और सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन की पूर्व अध्यक्ष आसमा जहांगीर का रविवार 11 फरवरी को को अचानक निधन हो गया है। आसमा जहांगीर 66 साल की थी। आसमा की बेटी मुंजा जहांगीर के मुताबिक उनकी मां ने आखिरी सांस लाहौर में ली। मुंजा जहांगीर खुद पाकिस्तान से बाहर हैं और उनके भाई ने मां के इंतेकाल की जानकारी दी।

आसमा जहांगीर का जन्म 1952 में लाहौर में हुआ था। उन्होंने किनार्ड कॉलेज से स्‍नातक किया था। पंजाब यूनिवर्सिटी से 1978 में लॉ की डिग्री ली। उनकी मौत पर पाकिस्‍तान के पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी, चीफ जस्टिस सकीब निसार, ममनून हुसैन समेत पूरे पाकिस्‍तान ने उन्हें श्रद्धांजलि दी। जरदारी ने कहा कि आसमां ने मानवाधिकार के लिए अपने जीवन में बहुत संघर्ष किया है।

आसमां जहांगीर दुनियाभर के उन चुनिंदा लोगों में से एक थीं, जिन्‍होंने अपनी जिंदगी की परवाह किए बिना मानवाधिकार और लोकतंत्र के पक्ष में अपनी आवाज हमेशा बुलंद की। पाकिस्तान में जब जुल्फि‍कार अली भुट्टो की सरकार को अपदस्‍थ कर जनरल जियाउल हक ने डिक्‍टेटरशिप चलानी शुरु की तो व़ह उसके खिलाफ मुखर रूप से विरोध में उतरीं।

Related news

Don’t miss out

News