Download app
We are social

मुंह की खाने के बाद पाक ने चला नया पैंतरा, ICJ में दायर की पुनर्विचार याचिका

नई दिल्ली ( 19 मई ):  कुलभूषण जाधव के मामले में पाकिस्तान ने इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (आईसीजे) में पुनर्विचार याचिका दाखिल कर दी है। इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस में कुलभूषण जाधव मामले में मुंह की खानी के बाद पाकिस्तान में सिर-फुटव्वल मचा है।

 

पाकिस्तान के कानूनी विशेषज्ञ ICJ में देश का पक्ष सही तरीके से नहीं रखने को लेकर नवाज शरीफ की सरकार और विदेश विभाग के अधिकारियों को कोस रहे हैं। मामले में पाकिस्तान की पैरवी करने वाले वकील खावेर कुरैशी भी कानूनी जानकारों के निशाने पर हैं। इस बीच पाकिस्तान ने ICJ में जाधव मामले में नया पैंतरा चला है। पाकिस्तान सरकार ने ICJ में पुनर्विचार याचिका दायर की है। याचिका में कोर्ट से छह हफ्ते में सुनवाई की मांग की गई है।


भारत ने जाधव को फांसी की सजा को इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस में चुनौती दी थी, जिस पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने फांसी की सजा पर रोक लगा दी थी। पाकिस्तान मीडिया में चल रही खबरों के मुताबिक पाकिस्तान सरकार ने ICJ में पुनर्विचार याचिका दायर की है। याचिका में कोर्ट से छह हफ्तों के भीतर सुनवाई की मांग की है।


गौरतलब है कि ICJ ने गुरुवार को पाकिस्तान के एक सैन्य अदालत द्वारा जाधव को दी गई की फांसी की सजा पर अंतिम निर्णय आने तक रोक का आदेश दिया था। कोर्ट ने साथ ही कहा था कि जाधव को राजनयिक पहुंच पाने का अधिकार है। पाक की एक अखबार में छपी रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान के अंतरराष्ट्रीय आर्बिट्रेशन मामलों के अनुभवी एक वरिष्ठ वकील ने कहा कि विदेश विभाग के लीगल विंग में बड़ा बदलाव समय की जरूरत है।


विदेश विभाग के अधिकारी जाधव मामले में उचित सलाह देने में असफल रहे हैं। उन्होंने कहा, 'अगर भारत कश्मीर मसले पर ICJ के अधिकार क्षेत्र को चुनौती दे सकता है तो पाकिस्तान भी अपने मामले में यही तरीका अपना सकता था।

पाकिस्तान की दलील को खारिज करते हुए कोर्ट ने मामले की अंतिम सुनवाई तक जाधव की फांसी की सजा पर रोक लगा दी थी। फैसले के बाद पाकिस्तान की नवाज सरकार बैकफुट पर आ गई थी।

Related news

Don’t miss out