दहेज ना मिलने पर दिया तलाक, पीड़‍िता ने लगाई पीएम से गुहार


नई दिल्ली (13 मई): सुप्रीम कोर्ट के दखल के बाद भी मुस्लिम महिलाओं पर अत्याचार नहीं थम रहे हैं। ताजा मामला हरदोई के पिहानी का है। यहां पर युवती को सिर्फ इसलिए तलाक दे दिया गया, क्योंकि उसका परिवार दहेज का मांग को पूरा नहीं कर सका। मामला दर्ज भी है, लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है।  

मामले में अधिकारियों की उदासनीता का आलम ये है कि आरोपी ने 29 अप्रैल को दूसरी शादी कर ली। पीड़िता के घर पहुंचकर उसे तीन तलाक बोल दिया। पीड़िता ने पुलिस में शिकयत की, लेकिन नतीजा सिफर ही रहा है।

अब पीड़िता ने पीएम मोदी से मदद की गुहार लगाई और पुलिस इस मामले में कुछ भी कहने बच रही है। ऐसे में सवाल ये जब सुप्रीम कोर्ट ने तीन तलाक पर कानून बना दिया है तो उसका पालन क्यों नहीं किया जा रहा है।