लापरवाही: जयपुर में कबाड़ी के यहां मिले हजारों आधार कार्ड


न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली ( 14 जून ): लोगों की निजी जानकारी लीक होने और आधार को लेकर गोपनीयता पर देश में एक और गम्भीर सवाल पहले ही खड़े हो चुके हैं और सुप्रीम कोर्ट तक मामले की सुनवाई हो चुकी है लेकिन लगता है कि शायद केन्द्र और राज्य की सरकारें और यूनीक आईडी जारी करने वाली एजेंसियां मामले में बिल्कुल भी गम्भीर नहीं हैं। 

जयपुर के एक कबाड़ी के यहां करीब 5 हजार आधार कार्ड मिले हैं। मिली जानकारी के अनुसार एक अज्ञात शख्स कबाड़ी को 8 रुपये प्रति किलो के भाव से रद्दी में छिपा कर बेच गया। कबाड़ की दुकान पर बोरे में भरे इन आधार कार्ड को देखकर लोग हैरान हो गए और मौके पर भीड़ जुट गई। इसके बाद सारे आधार कार्ड बोरे में बंद कर प्रदेश में आधार एजेंसी डीओआईटी के अधिकारियों को सूचना दी गई।
रद्दी में आधार कॉर्ड मिलने की सूचना के बाद स्थानीय पार्षद इकरामुद्दीन भी मौके पर पहुंचे और डीओआईटी में सूचना दी गई। जानकारी के अनुसार रद्दी में बेचे गए आधार पिछले साल की पहली तिमाही में कार्ड के हकदार के यहां डिस्पेच के लिए जारी हुए थे। लेकिन आधार नामांकन करवाने वालों की जगह कबाड़ी तक पहुंच गए।
आधार आम आदमी की पहचान से जुड़ा सबसे बड़ा दस्तावेज है जो गलत हाथों में आने से बड़ा नुकसान और गलत फायदा उठाया जा सकता है। कबाड़ी के पास मिले अधिकतर आधार की डिस्पैच तारीख जनवरी 2017, मार्च और अप्रैल 2017 दर्ज है।
कबाड़ी इमरान ने बताया कि एक अनजान व्यक्ति बोरे में ऊपर रद्दी कागज डालकर पूरा बोरा बेच गया था। जब बोरे से रद्दी निकाली तो नीचे आधार नजर आए। फिलहाल इस मसले पर डीओआईटीकी ओर से कोई बयान जारी नहीं हुआ है।