हमलों से डरे पाकिस्तान के सिख, 60% लोगों ने छोड़ा घर


न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (13 जून): पाकिस्तान के पेशावर में अल्पसंख्यक सिख समुदाय पर धर्म के नाम पर हमले रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं। इन हमलों के चलते पेशावर में कई सिख परिवार दूसरी जगह पलायन कर चुके हैं तो कई पलायन के इंतजार में हैं। रिपोर्ट के मुताबिक पेशावर के 30 हजार सिखों में से करीब 60 फीसदी लगातार मिल रही धार्मिक धमकी के चलते या तो पाकिस्तान के दूसरे हिस्सों में या फिर भारत में पलायन कर चुके हैं।

हाल ही में, पेशावर में किराने की दुकान चलाने वाले सिख धर्मगुरु और मानवाधिकार कार्यकर्ता चरणजीत सिंह को बदमाशों ने गोलियों से भूनकर मार डाला। सिख समुदाय के बाबा गुरपाल सिंह ने कहा, 'मुझे लगता है कि यहां सिखों का नरसंहार हो रहा है।'
पाकिस्तान सिख काउंसिल (PCS) के एक और सदस्य ने कहा कि उनके समुदाय का इसलिए सफाया किया जा रहा है क्योंकि वे अलग दिखते हैं। PCS सदस्य बलबीर सिंह ने मीडिया से बात करते हुए अपनी पगड़ी की तरफ इशारा करते हुए कहा,'यह आपको आसान शिकार बनाता है।' कुछ सिखों का आरोप है कि आतंकी समूह तालिबान इन हत्याओं को अंजाम दे रहा है।