फीफा कप 2018: फुटबाल के रंग में रंगने को तैयार लखनऊ

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (14 जून): आज शाम से फुटबाल की दुनिया का सबसे बड़ा मेला यानी फीफा वर्ल्ड कप रूस में शुरू हो रहा है। इसमें दुनिया की 32 टीमें फुटबाल पर बादशाहत के लिए आपस में भिड़ेंगी। पूरी दुनिया एक माह फुटबाल के रंग में डूबी रहेगी। ऐसे में राजधानी भला कैसे अछूती रहेगी। भले ही लखनऊ की राष्ट्रीय स्तर पर फुटबाल के क्षेत्र में नाममात्र उपलब्धि रही है लेकिन यहां फुटबाल का जुनून सिर चढ़कर बोलता है।

इस वर्ल्ड कप का मजा लेने के लिए फुटबाल प्रेमियों ने अपने-अपने तरीके से इंतजाम किए हैं। किसी ने परिवार के साथ तो किसी ने टीम के साथ, किसी ने दोस्तों के साथ तो किसी ने पार्क में वर्ल्ड कप के हाई वोल्टेड मुकाबले देखने का इंतजाम किया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक राजधानी में हर वर्ग के करीब पांच हजार फुटबाल खिलाड़ी हैं। यही नहीं सदर, छावनी, आरडीएसओ, चौक आदि फुटबाल के गढ़ माने जाते हैं। वर्ल्ड कप गुरुवार से शुरू होगा लेकिन टीमों के बारे में चर्चा पिछले माह भर से चल रही है।

कोई जर्मनी को चैंपियन बता रहा है तो कोई स्पेन को। क्रिस्टियानों रोनाल्डो, हल्क, नेमार, मेसी जैसे अपने-अपने  चहेते खिलाड़ियों को मैदान खेलते देखने के लिए खेलप्रेमी उतावले हैं। रजमन बाजार फुटबाल का गढ़ माना जाता है। यहां से संतोष ट्रॉफी खेलने वाले अनिल कुमार बनौधा, अनिल कुमार, महेश जैसे एक से एक धुरंधर खिलाड़ी निकले हैं। वर्ल्ड कप आते ही रजमन बाजार का माहौल फुटबाल के रंग में रंग जाता है।

हर घर के टेलीविजन पर टीवी सीरयल, फिल्मों की जगह सिर्फ फुटबाल मैच ही चलते दिखाई देते हैं। पूर्व फुटबाल खिलाड़ी व संयुक्त खेल निदेशक अनिल कुमार बनौधा बताते हैं कि यहां वर्ल्ड कप हमेशा इंतजार रहता है। एक उत्सव  जैसा माहौल रहता है। पूरे एक माह तक यहां सिर्फ फुटबाल की ही चर्चा होगी।

आरडीएसओ पर हमेशा फुटबाल का नशा चढ़ा रहता है। यहां के कभी यूनियन क्लब फुटबाल का माहौल बनाए रखता था। फिलहाल मिलानी क्लब ने फुटबाल की परम्परा बचाए रखी है। पर यहां के लोगों की नसों में फुटबाल बहता है। यहां से पुराने फुटबाल खिलाड़ी करन सिंह (अंतरराष्ट्रीय), दिनेश कुमार, गोपी, नीलाद्री सेन गुप्ता, गौरी सेन गुप्ता, ऋषि भट्टाचार्य, निकुंजा सरदार, प्रताप, रामचंद्र, मानसिंह जैसे धुरंधर फुटबाल खिलाड़ी निकले हैं।