5 रुपये, 20 रुपये या 1000 रुपये का नया नोट!

देश | Nov. 12, 2017, 2:16 p.m.


नई दिल्ली (12 नवंबर):
आपने अभी तक 2000 रुपये का गुलाबी नोट तो देखा होगा और यह आपके पास भी होगा। लेकिन क्या आपने 5 रुपये, 20 रुपये या 1000 रुपये का नया नोट देखा है? कन्फ्यूज न हों, ये नए नोट या नए सिक्के अभी तक हमने भी नहीं देखे, लेकिन सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल मैसेज में रिजर्व बैंक के नए डिजाइन वाले नोट और नई कीमत के सिक्के वायरल हो रहे हैं।

सोशल मीडिया पर तस्वीर में 20 रुपये की पूरी गड्डी दिखाई जा रही है। ऐसे में सवाल उठता है कि क्या RBI ने 20 रुपये का नया हरा नोट जारी कर दिया है ? नोटबन्दी के एक साल पूरे होने के बाद सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे मैसेज में 1, 5, 20 और 1000 रुपये के नए नोट RBI द्वारा जारी करने की बात कही जा रही है। इसी मैसेज में 20, 75, 100, 150 और 1000 रुपये तक के सिक्के भी बताए जा रहे हैं। आखिर इन मैसेज की सच्चाई क्या है ये जानने के लिए हमने इसकी पड़ताल करने का फैसला किया।

हम जानते थे कि 2000 रुपये का नया नोट नोटबंदी के बाद जारी किया गया था। 200 रुपये और 50 का नोट 26 अगस्त 2017 से बैंकिंग सिस्टम में लाया गया था। सोशल मीडिया पर 5 रुपये, 20 रुपये और 1000 रुपये के नए नोट के साथ 1 रुपये के गुलाबी नोट के फोटो भी वायरल होते मिले। 1 रुपये के गुलाबी नोटों की पड़ताल में हमें पता चला कि RBI ने 1995 में 1 रुपये का नोट छापना बंद कर दिया था, लेकिन 2005 में 1 रुपये का नया नोट फिर छापा गया।

हमें ये जानकारी नहीं थी कि 5 रुपये और 1000 रुपये के नए नोट कब जारी हुए। हमने RBI के सूत्रों से भी इस खबर की पुष्टि की। हमें पता चला कि RBI ने अभी तक 5, 20 या 1000 का नया नोट जारी नहीं किया है। अब हमारे सामने सवाल ये था कि फिर सोशल मीडिया पर वायरल नए डिजाइन के फोटो आए कहां से?

इस सवाल का जवाब ढूंढने के लिए हमने टेक्नोलॉजी की मदद ली। हमने गूगल के 'रिवर्स इमेज टूल' का इस्तेमाल किया। गूगल के रिवर्स इमेज टूल पर जब हमने इन वायरल नोटों को सर्च किया तो हमें नोटों के वो फोटो मिले जिनके साथ छेड़छाड़ करके 5, 20 और 1000 ने नोट बनाए गए थे। 5 रुपये और 20 रुपये का नोट फर्जी है और फोटो को छेड़छाछ करके इसे तैयार किया गया है। इसका सबूत ये भी है कि इन दोनों नोटों के अंक तो बदल दिये गए थे, लेकिन नोट पर जहां हिंदी शब्दों में नोटों की कीमत लिखी थी, वहां कोई बदलाव नहीं किया गया था। यानी वायरल नोटों के अंकों और शब्दों में लिखी कीमत में अंतर था।

Related news

Don’t miss out

News