नासा की भविष्यवाणी, डूब जाएगी मुंबई!

देश | Nov. 18, 2017, 6:38 p.m.

नई दिल्ली ( 18 नवंबर ): नासा की रिपोर्ट सच हो सकती है जिसमें ये बताया गया है कि आने वाले समय में मुंबई और मंगलोर डूबने वाले हैं। नासा ने टूल बनाकर जो कुछ भी पता लगाया है वो सही है। ग्लोबल वार्मिंग की वजह से ग्लेशियर पिघल रहे हैं और उसकी वजह से समुद्र का जलस्तर भी बढ़ रहा है और ऐसे में नासा की बात सच हो सकती है। 

अब जरूरत है कि हम पर्यावरण और जीवों का ध्यान रखें। 

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने एक ऐसा टूल बनाया है जिससे यह पता लगाया जा सकता है कि अगर ग्लोबल वार्मिंग के कारण ग्लेशियर पिघलते हैं तो सबसे पहले कौन-से शहर डूबेंगे। नासा का यह टूल धरती के घूमने की प्रक्रिया, ग्लेशियर के पिघलने की गति के आधार पर शहरों का चुनाव करेगा। नासा के इस टूल के आकलन के अनुसार, इसमें भारत के भी शहर शामिल है। मुंबई और कर्नाटक के मंगलोर पर इसका सबसे ज्यादा खतरा है। 

ग्लोबल वार्मिंग के कारण ग्लेशियर के पिघलने से समुद्र में पानी का स्तर बढ़ जाता है। लेकिन बर्फ के पिघलने से किस स्थानीय समुद्र के तटीय शहरों में कौन सा शहर प्रभावित होगा यह जानना एक बड़ा सवाल है। इसी सवाल का उत्तर जानने के लिए नासा के वैज्ञानिकों ने इस टूल को विकसित किया है जो इसकी भविष्यवाणी कर देगा कि ग्लोबल वार्मिंग के कारण किस तटीय शहर में बाढ़ पहले आएगी। इस टूल का नाम है ग्रैडिएंट फिंगरप्रिंट मैपिंग (GFM)।

Related news

Don’t miss out

News