कभी खेल के लिए ठुकरा दिया था मॉडलिंग का ऑफर, अब गोल्ड जीत रच दिया इतिहास

खेल | April 16, 2018, 7:25 p.m.

नई दिल्ली (16 अप्रैल): 21वें कॉमनवेल्थ गेम्स भारतीय खिलाड़ियों के लिए यादगार रहेगा। गोल्ड कोस्ट में भारत ने कुल 66 पदक जीते। जिसमें 26 गोल्ड, 20 सिल्वर और 20 ब्रॉन्ज मेडल शामिल हैं। साथ ही भारत पदक तालिका में तीसरे स्थान पर रहा। 

कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत की ओर से दिल्ली की 22 साल की मणिका बत्रा सबसे कामयाब एथलीट रहीं। उन्होंने टेबल टेनिस इवेंट में चार मेडल अपने नाम किए। इसके साथ वे टेबल टेनिस के इतिहास में 4 मेडल जीतने वाली पहली महिला प्लेयर भी बन गईं। उन्होंने ये मेडल सिंगल्स, वुमेन्स टीम, वुमेन्स डबल्स और मिक्स्ड डबल्स में जीते। 

मणिका बत्रा को देख कर कोई भी पहली निगाह में उसे हिरोइन या मॉडल समझने की भूल कर सकता है। मणिका के साथ असल जिंदगी में भी ऐसा ही हुआ। उनके जानने वाले हर शख्स ने उन्हें मॉडलिंग में कैरियर बनाने की सलाह दी और एक समय में वो खेल छोड़ने भी वाली थीं। मणिका को जीएस एंड मैरी कॉलेज में पढ़ते वक्त मॉडलिंग का ऑफर मिला था। वह इस ओर भी अपना कॅरियर बना सकती थीं।

इस उधेड़-बुन के चलते मणिका भी समझ नहीं पा रही थी कि वो करे तो क्या करे। आखिर में उन्होंने मॉडलिंग में किस्मत आजमाने का फैसला किया लेकिन जल्द ही उन्हें पता चल गया कि ये उनका क्षेत्र नहीं है। इस दौरान वो अपने पसंदीदा खेल में रमी रहीं और वो था टेबल टेनिस का खेल। मणिका ने 12वीं के बाद दिल्ली विश्वद्यालय में एडमिशन लिया लेकिन पढ़ाई के चलते वो अपने खेल पर पूरा ध्यान नहीं दे पा रही थी। आखिर में मणिका ने डीयू से हटने का फैसला किया और पूरी तरह से अपने खेल पर फोकस हो गई हैं और अब नतीजा सबके सामने है।

मणिका कहती है कि मैं 2024 ओलंपिक में पदक जीतने के लिए अपनी पूरी कोशिश करूंगी। कॉमनवेल्थ खेलों में गोल्ड जीतना उनके लिए सपना सच होने जैसा है।

Related news

Don’t miss out

News