सरहद पर चीन की चालबाज का ऐसे जवाब देगा भारत

देश | Oct. 12, 2017, 7:56 a.m.

नई दिल्ली (12 अक्टूबर): अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर लगातार विरोध और डोकलाम विवाद के बाद अब भारत चीन के साथ अपने रिश्ते को लेकर काफी सजग है और उससे निपटने के लिए खास रणनीति बनाने में जुटा है। भारत अब सरहदी के इलाकों में विकास पर ज्यादा जोर देगा। बताया जाता है कि इन इलाकों में विकास न होने के कारण चीन को यहां आसानी दखल देने का मौका मिल जाता है। जानकारी में मुताबिक रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने अपने अरुणाचल और सिक्किम के दौरे के दौरान 4,057 किलोमीटर लंबी लाइन ऑफ ऐक्चुअल कंट्रोल यानी LAC के नजदीक बुनियादी ढांचे में विकास पर जोर देने की बात कही है।


बताया जा रहा है कि बॉर्डर पर मूलभूत ढांचे में समुचित विकास न होने की वजह से चीन को अपने सलामी स्लाइसिंग ऑपरेशन के तहत छोटे-छोटे सैन्य अभियान चलाक धीरे-धीरे बड़े इलाके पर कब्जा कर लेता है। चीन ऐसे कई छोटे-छोटे ऑपरेशन चलाकर कई इलाकों पर कब्जा कर चुका है। ऐसे मामलों में अंतरराष्ट्रीय डिप्लोमैसी का ध्यान खींचना बार-बार नहीं खींचा जा सकता।
 

Related news

Don’t miss out

News