Download app
We are social

जिसने पति को मारी थी 65 गोली, उसी के खिलाफ यह महिला लड़ रही हैं चुनाव

गाजीपुर (7 फरवरी): मोहम्मदाबाद विधानसभा सीट से बीजेपी कैंडि‍डेट के रूप में अल्का राय उस बाहुबली डान मुख्तार अंसारी के भाई से टक्‍कर ले रहीं है, जिसपर पति समेत 7 लोगों की दिनदहाड़े हत्‍या का आरोप है। अल्का राय पूर्व बीजेपी एमएलए स्वर्गीय कृष्‍णानंद राय की पत्‍नी हैं।


इस चुनाव में उनकी सीधी टक्‍कर मुख्तार के भाई और वर्तमान विधायक सिबगतुल्लाह अंसारी से है, जो बीएसपी से मैदान में हैं। बता दें, कृष्णनंद राय को 65 गोलियां एके-47 और पिस्टल से मारी गई थी।


2007 में मिली थी हार, फि‍र लिया था चुनाव नहीं लड़ने का फैसला...

- पति केएन राय की हत्‍या के बाद 2006 में हुए उपचुनाव में पहली बार अल्का राय बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ी। इस चुनाव में अल्का ने सपा के गामा राम को 33,744 वोटों से हराकर जीत हासिल की थी।

- इसके बाद दोबारा 2007 के विधानसभा चुनाव में अल्का को बीजेपी से मौका मिला, लेकिन इस चुनाव में वह 3,386 वोटों से सपा के सिबगतुल्लाह अंसारी से हार गई, जिसके बाद 2012 के चुनाव में अल्का ने चुनाव नहीं लड़ने का फैसला किया।

- बीजेपी ने 2017 के चुनाव में फिर से उन्‍हें अपना कैंडि‍डेट अनाउंस किया है।

पति को मारी गई थी 65 गोलियां, 12 साल से जेल में है आरोपी माफिया डॉन

- 29 नवंबर 2005 को मोहम्मदाबाद के तत्कालीन बीजेपी एमएलए कृष्णानंद राय समेत 7 लोगों की गोलियां मारकर हत्या कर दी गई थी।

- 29 नवंबर 2005 को भांवरकोल ब्लॉक की ओर से आयोजित क्रिकेट टूर्नामेंट का उद्घाटन करने के बाद कृष्णानंद राय जा रहे थे।

- अपराधियों को पहले से पता था कि उस समय कृष्णानंद के साथ उनके सरकारी गार्ड के अलावा और कोई सुरक्षाकर्मी नहीं है।

- वह अपनी बुलेट प्रूफ गाड़ी में भी नहीं थे।

- इस अंधाधुंध गोलीबारी में किसी को भी अपने बचाव का मौका नहीं मिला और साथ में मौजूद मोहम्मदाबाद के पूर्व ब्लॉक प्रमुख श्यामा शंकर राय, भांवरकोल ब्लॉक के बीजेपी मंडल अध्यक्ष रमेश राय, अखिलेश राय, शेषनाथ पटेल, मुन्ना यादव और निर्भय नारायण की मौके पर ही मौत हो गई थी।

- पोस्‍टमार्टम में केएन राय के शरीर से 65 गोलियां निकाली गई थीं।

Related news

Don’t miss out