Download app
We are social

जब किशोर कुमार ने राजेश खन्ना के लिए गाने से कर दिया था इंकार

नई दिल्ली ( 13 अक्टूबर ): आज संगीत के जादुगर किशोर दा की पुण्यतिथि है। 13 अक्टूबर 1987 को किशोर कुमार ने दुनिया को अलविदा कह दिया था। किशोर दा की एक खासियत थी वो जिस एक्टर के लिए आवाज देते ऐसा लगता मानों ये आवाज उसी खास एक्टर के लिए बनी हो। राजेश खन्ना सुपर स्टार बने तो इसके पीछे भी किशोर कुमार की गायिकी का कमाल माना गया। 60 के दशक में उनके गाने हर स्टार की पहचान बनने लगे। खासतौर पर राजेश खन्ना, जो सिनेमा के पहले सुपरस्टार माने जाते हैं। आगे चलकर हालत ये हो गई कि राजेश खन्ना किशोर कुमार की आवाज के बिना अपने किरदार की कल्पना भी नहीं कर पाते थे।

कहा तो ये भी जाता है कि वो किशोर कुमार के गाये गीत थे जो राजेश खन्ना की कामयाबी की बुनियाद रख गए। वो सिलसिला अराधना से शुरु हुआ तो किशोर कुमार की आखिरी सांस तक चलता रहा। 1985 में किशोर दा ने राजेश खन्ना की प्रोडक्शन में बनी फिल्म अलग-अलग के सारे गाने गाए, लेकिन कोई मेहनताना नहीं लिया। जैसे अपने हीरो को उसकी खुद की आवाज से नवाज रहे हों। राजेश खन्ना के साथ आवाज ही नहीं, दिल का रिश्ता भी था किशोर दा का। इसे अक्सर राजेश खन्ना भी याद करते थे। खासतौर पर वो मुलाकात, जब किशोर दा उनके लिए गाने को तैयार हुए थे। आपको बता दें कि राजेश खन्ना के लिए गाने को बड़ी मुश्किल से किशोर दा तैयार हुए थे। तब उनका मन बंबई से उखड़ा हुआ था। 60 के दशक के आखिरी बरसों में किशोर दा की फिल्में नहीं चल रही थी। गाने को भी कुछ खास नहीं मिल रहा था।

लेकिन गाने का पैमाना उतना ही सख्त था कोई भी गाना मिलता तो पहले उसकी पूरी पड़ताल करते। सिचुएशन क्या है, हीरो कौन है जैसे तमाम चीजें पहले जान लेते। अराधना में जब उन्होंने सुना कि हीरो कोई नया है, तो गाने से पहले उससे मिलने का फैसला किया। राजेश खन्ना से मिलने के बाद किशोर कुमार ने कुछ ऐसा गाया मानों उनकी आवाज राजेश खन्ना को सुपर स्टार बनाने के लिए हो। किशोर दा ने आवाज को कुछ इस तरह राजेश खन्ना से मिलाया कि ऐसा लगा मानों राजेश खन्ना ही उन गीतों को गा रहे हो। 

Related news

Don’t miss out