पाकिस्तान में चीनी नागरिक की हत्या, चीन के प्रॉजेक्ट्स पर खतरा!

दुनिया | Feb. 13, 2018, 5:52 p.m.

नई दिल्ली ( 13 फरवरी ): पाकिस्तान और चीन के कारोबारी सहयोग काफी बढ़ रहा है। लेकिन इस बीच एक व्यापारी के हत्या के बाद चीनी व्यापारियों में दहशत पैदा हो गई है। चीनी कारोबारी पर यह हमला पांच फरवरी को हुआ। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक कुछ अज्ञात लोगों ने व्यापारी पर नौ राउंड गोलियां चलायी थी। 

पाकिस्‍तान में 1994 से चल रहे शंघाई मूल की कास्‍को शिपिंग लाइंस कंपनी के लोकल यूनिट के 46 वर्षीय चीनी मैनेजिंग डायरेक्‍टर शेन झू पर बंदूकधारी ने कम से कम 9 बार गोलियां चलाई जिसके बाद उनकी मौत हो गयी। चीन के व्यापारी शेन झू की हत्या ने एक बार फिर पाकिस्तान में विदेशी नागरिकों की सुरक्षा पर गंभीर सवाल खड़े कर दिए हैं। पहले व्यापारी को इलाज के लिए जिन्ना पोस्टग्रेजुएट मेडिकल सेन्टर ले जाया गया लेकिन वहां उनकी मौत हो गयी। इस हमले में एक और चीनी नागरिक जिंदा बच गया।

हजारों डॉलर्स की लागत से बन रहे चीनी प्रॉजेक्ट्स और उसके लिए वहां काम कर रहे हजारों चीनी नागरिकों की सुरक्षा भी सवालों के घेरे में आ गई है। यह पहली बार नहीं है जब चीन के नागरिकों को पाकिस्तान में निशाना बनाया गया है, लेकिन इतनी असुरक्षा और डर का माहौल पहले कभी नहीं रहा। हालांकि चीन ने पाकिस्तान से कहा है कि वह उसके नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित करे, लेकिन चीनी नागरिक अब भी अपनी सुरक्षा को लेकर आश्वस्त नहीं हैं। 

चीन की सरकार के आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, पिछले साल अगस्त तक कम से कम 20,000 चीनी नागरिक पाकिस्तान में काम के सिलसिले में आए हैं। पाकिस्तान के सुरक्षाबलों के लिए इन लोगों को सुरक्षा देना एक बड़ी चुनौती बनता जा रहा है। खास तौर पर कराची में मारे गए शेन झू जैसे लोगों के लिए, जो चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (CPEC) के बाहर काम करते हैं। खास बात यह है कि पाकिस्तान की सेना ने CPEC प्रॉजेक्ट्स को सुरक्षित रखने के लिए 15,000 सैनिकों की एक अलग फोर्स तैयार की है। 

गौरतलब है कि अमेरिका से रिश्तों में आई कड़वाहट के बीच पाकिस्तान अब पूरी तरह चीन की मेहरबानी पर निर्भर है। अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने पिछले महीने पाकिस्तान को दी जाने वाली करोड़ों की सैन्य सहायता पर रोक लगा दी थी।

Related news

Don’t miss out

News