Download app
We are social

वतन लौटे मौलवियों का बड़ा खुलासा, PAK जांच एजेसियों ने किया था गिरफ्तार



नई दिल्ली(20 मार्च): पाकिस्तान के लाहौर से पिछले दिनों लापता हुए दिल्ली की हजरत निजामुद्दीन औलिया दरगाह के मुख्य खादिम आसिफ अली निजामी और उनके भतीजे नजीम अली निजामी दिल्ली लौट आए हैं।  दिल्ली लौटने पर इन लोगों ने बड़ा खुलासा किया है। इन लोगों का कहना है कि पाकिस्तान के अखबार उम्मत ने उन्हें RAW का जासूस करार दिया था। जिसके बाद वहां की जांच एजेंसियों ने उन्हें हिरासत में ले लिया था। और उन्हें किसी अज्ञात स्थान पर रखा है। इस दौरान पाकिस्तानी जांच एजेंसियों ने उनसे तरह के तरह सवाल भी पूछे।


गौरतलब है कि निजामुद्दीन दरगाह के मुख्य खादिम आसिफ अली निजामी और उनके भतीजे नजीम अली निजामी लाहौर एयरपोर्ट से गुरुवार से लापता हो गए थे। आसिफ निजामी और नजीम निजामी लाहौर की दाता दरबार दरगाह पर गए थे। उन्हें बुधवार को वहां से लौटने के लिए कराची की फ्लाइट में बैठना था लेकिन लाहौर एयरपोर्ट पर अधूरे ट्रैवल डॉक्युमेंट्स होने का हवाला देकर उन्हें रोका गया था। खादिम लाहौर एयरपोर्ट से जबकि दूसरे मौलवी दूसरे मौलवी कराची एयरपोर्ट से लापता हो गए थे।   बाद में विदेश मंत्रालय के दखल के बाद ये दोनों मैलवी करांची में मिले थे।


Related news