चुनाव आयोग ने बताया हिमाचल में पहले चुनाव कराने की वजह

देश | Oct. 23, 2017, 5:56 p.m.


नई दिल्ली (23 अक्टूबर):
गुजरात में चुनावों की तारीखों का ऐलान नहीं करने को लेकर विपक्ष लगातार चुनाव आयोग पर निशाना साध रहा है। ऐसे में मुख्य चुनाव आयुक्त अचल कुमार जोती ने बताया कहा कि हिमाचल प्रदेश विधानसभा का चुनाव गुजरात से पहले कराने के पीछे मौसम समेत कई कारण जिम्मेदार थे।

न्यूज एजेंसी एएनआई को दिए इंटरव्यू में जोती ने कहा कि हिमाचल प्रदेश में राजनीतिक दलों और राज्य प्रशासन ने चुनाव आयोग से अनुरोध किया था कि मध्य-नवंबर से पहले चुनाव करा लिए जाए क्योंकि देरी से सूबे के 3 जिलों में बर्फबारी का खतरा बना रहेगा। इसलिए पहले चुनाव कराने का आग्रह किया ताकि वोटर्स अपने वोट डाल सकें।

गुजरात की तारीखों का इसलिए नहीं किया ऐलान...
चुनाव आयोग का कहना है कि गुजरात बाढ़ जिसमें सैकड़ों लोगों की मौत हुई और इन्फ्रस्ट्रक्चर को काफी नुकसान पहुंचा है। राज्य में चुनाव से पहले पुनरुद्धार का काम पूरा होना चाहिए। सरकारी कर्मचारी पुनरुद्धार के कार्य में लगे है और उन्हें ही चुनाव के दौरान ड्यूटी करनी है। ऐसे में एक बार जब चुनाव की तारीखों का ऐलान हो जाता है तो सरकारी कर्मचारियों को पुनरुद्धार कार्य छोड़ना होगा और चुनाव संबंधी ड्यूटी करनी होगी।

बता दें कि जुलाई में गुजरात के कई हिस्सों में भारी बारिश और बाढ़ की वजह से काफी तबाही हुई थी और 200 से ज्यादा लोगों की मौत हुई थी।

Related news

Don’t miss out

News