यूको बैंक के पूर्व सीएमडी के खिलाफ केस दर्ज, 737 करोड़ की धोखाधड़ी मामले में सीबीआई का छापा

देश | April 15, 2018, 9:32 a.m.

नई दिल्ली ( 15 अप्रैल ): केंद्रीय जांच ब्यूरो ने 621 करोड़ रुपये के लोन के कथित धोखाधड़ी मामले में यूको बैंक के पूर्व सीएमडी अरुण कौल और अन्य के खिलाफ केस दर्ज किया है। इस धोखाधड़ी के चलते बैंक को करीब 737 करोड़ रुपये का नुकसान उठाना पड़ा था। सीबीआई के प्रवक्ता अभिषेक दयाल ने बताया कि एजेंसी इस सिलसिले में 10 स्थानों पर छापेमारी की।

उन्होंने कहा कि कौल के अलावा सीबीआई ने एरा इंजीनियरिंग इंफ्रा इंडिया लिमिटेड(मेसर्स ईईआईएल), उसके सीएमडी हेम सिंह भराना, दो चार्टर्ड अकाउंटेंट पंकज जैन और वंदना शारदा, मेसर्स अलटियस फिन्सर्व प्राइवेट लिमिटेड के पवन बंसल और अन्य अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

सीबीआई में दर्ज एफआईआर में बैंक ने कथित रूप से कहा कि कंपनी को 2010 में दो लोन दिये गए थे। पहला मार्च में 200 करोड़ रुपये का और दूसरा अक्टूबर में 450 करोड़ रुपये का।

दयाल ने कहा, आरोपियों ने आपराधिक षड्यंत्र के तहत बैंक लोन की हेराफेरी करके यूको बैंक से करीब 621 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की। उन्होंने कहा कि आरोपियों ने जिस कार्य के लिए लोन लिया था, उस मद में इस राशि का इस्तेमाल नहीं किया गया।

आरोप है कि इन लोगों ने आपराधिक साजिश करके कर्ज की आड़ में यूको बैंक को 621 करोड़ रुपए का चूना लगाया। अधिकारियों ने कहा कि साल 2010 से 2015 तक यूको बैंक के सीएमडी रहे कौल ने आरोपियों को कर्ज लेने में कथित तौर पर मदद की। सीबीआई का कहना है कि चार्टर्ड अकाउंट द्वारा जारी फर्जी एंड यूज प्रमाणपत्र और मनगढ़ंत कारोबारी डाटा पेश करके कर्ज हासिल किया। 

Related news

Don’t miss out

News