Download app
We are social

क्रिकेटर बनने से पहले फौज में था जमां, अब पूरे पाकिस्तान को है इसपर फखर


लंदन(19 जून): 12 जनवरी 2007 को फकर जमां ने पाकिस्तान नेवी ज्वाइन की। क्रिकेट से मन हटाने के लिए फखर के पिता फखीर गुल ने फैसला लिया ये नेवी ज्वाइन करना उनकेे बेटे के करियर के लिए सबसे अहम निर्णय होगा। क्योंकि क्रिकेट फखर की पढाई को प्रभावित कर रहा था। एक बार जब फखर ने चयन प्रक्रिया पास कर ली तो उसके बाद वह मरदन से कराची के लिए निकल पड़े। 


बता दें मरदन फखर का गृह निवास है। कराची में फखर की पोस्टिंग बतौर नाविक हुई। हालांकि फखर ज्यादा दिन तक नेवी में नहीं रहे। लेकिन इस दौरान वह फौजी बनने की पूरी ट्रेनिंग ले चुके थे। फखर को उनके साथी फौजी नाम से पुकारते हैं। इस बीच बल्ले से उनकी प्रतिभा को नेवी में उनके कोच आजम खान पहचान चुके थे। 


इसके बाद कोच ने समय बर्बाद किए बिना नवल मुख्यालय से संपर्क किया और बताया कि ये खिलाड़ी देश के लिए बतौर बल्लेबाज ज्यादा कीमती होगा। फखर ने इसके बाद पीछे मुड़कर नहीं देखा। 


ओवल में 18 जून को भारत के खिलाफ मुकाबले में फखर ने अपने कोच की बात को सहीं साबित कर दिया। फखर ने अपना डेब्यू इसी टूर्नामेंट में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ किया था। पाकिस्तान की जीत के बाद एक न्यूज चैनल से बात करते हुए फखर के पिता ने कहा कि पहले वह सिर्फ कटलंग का फखर था, लेकिन अब पूरे पाकिस्तान का फखर है।

Related news

Don’t miss out