दिल्ली-एनसीआर में बैन के बावजूद खूब फोड़े गए पटाखे, बढ़ा प्रदूषण

देश | Oct. 20, 2017, 10:10 a.m.

नई दिल्ली(20 अक्टूबर): दिल्ली एनसीआर में पटाखों की बिक्री पर रोक के बावजूद जमकर आतिशबाजी हुई जिससे वायु प्रदूषण नौ गुना बढ़ गया है। पलूशन के स्तर को मापने वाले ऑनलाइन इंडिकेटर्स गुरुवार शाम 7 बजे ही एयर क्वॉलिटी के 'काफी खराब' होने के संकेत देने लगे थे। 

- सेंट्रल पलूशन कंट्रोल बोर्ड (CPCB) के आंकड़ों के अनुसार गुरुवार को एयर क्वॉलिटी इंडेक्स 319 था, जो 'काफी खराब' स्थिति है लेकिन पिछले साल दिवाली पर (30 अक्टूबर) हालात ज्यादा ही खराब थे। पिछले साल इंडेक्स 431 पर पहुंच गया था। CPCB ने भी कहा है कि लोगों में जागरूकता की वजह से दिवाली पर प्रदूषण पिछले साल की तुलना में घटा है। 

- इस बार दिवाली से पहले ही सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली-एनसीआर में पटाखे बेचने पर पाबंदी लगा दी थी। इसके पीछे मकसद दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण कम करना था, पर इस बैन का व्यापक असर नहीं हुआ।

- दिल्ली के विजय चौक पर पलूशन के कारण शुक्रवार को काफी धुंध छाई रही। यही हाल कई और इलाकों का भी था। लोधी रोड इलाके में PM10 का स्तर 5 गुना बढ़ गया। पंजाबी बाग में PM10 का स्तर 6 गुना बढ़ा जबकि शाहदरा में PM10 का स्तर 7 गुना बढ़ा पाया गया। 

- दिल्ली के आनंद विहार में जहां प्रदूषण सामान्य से 24 गुना बढ़ गया, वहीं इंडिया गेट के आसपास के इलाके में पलूशन का लेवल 15 गुना अधिक पाया गया। दिल्ली के शादीपुर में पलूशन खतरनाक स्तर पर पहुंच गया। यहां एयर क्वॉलिटी इंडेक्स 420 पर जा पहुंचा।

- दिल्ली पलूशन कंट्रोल कमिटी के आर.के. पुरम मॉनिटरिंग स्टेशन ने रात 11 बजे PM2.5 और PM10 क्रमश: 878 और 1,179 माइक्रोग्राम/क्यूबिक रेकॉर्ड किया गया। यह पलूशन स्तर को लेकर काफी खराब स्थिति है। इस बढ़े हुए प्रदूषण के कारण दिल्ली-एनसीआर के लोगों को अगले 24 घंटे या उससे भी ज्यादा समय तक सांस लेने में परेशानी हो सकती है।

Related news

Don’t miss out

News