BREAKING: मणिशंकर अय्यर पर कांग्रेस की बड़ी कार्रवाई, प्राथमिक सदस्यता से किया निलंबित

देश | Dec. 7, 2017, 9:15 p.m.


नई दिल्ली (7 दिसंबर): प्रधानमंत्री मोदी को 'नीच' कहना मणिशंकर अय्यर का भारी पड़ता दिख रहा है। कांग्रेस ने मणिशंकर अय्यर को कारण बताओ नोटिस जारी कर पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया है। यही हैं कांग्रेस का गांधीवादी नेतृत्व व विरोधी के प्रति सम्मान की भावना। पार्टी प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने श्री मनी शंकर अय्यर को कारण बताओ नोटिस जारी कर प्राथमिक सदस्यता से निलम्बित कर दिया है। क्या मोदी जी कभी यह साहस दिखाएंगे? यही हैं कांग्रेस का गांधीवादी नेतृत्व व विरोधी के प्रति सम्मान की भावना।
 

यही हैं कांग्रेस का गांधीवादी नेतृत्व व विरोधी के प्रति सम्मान की भावना।

कांग्रेस पार्टी ने श्री मनी शंकर अय्यर को कारण बताओ नोटिस जारी कर प्राथमिक सदस्यता से निलम्बित कर दिया है।

क्या मोदी जी कभी यह साहस दिखाएँगे? https://t.co/h6MEgvm6Ca

— Randeep S Surjewala (@rssurjewala) December 7, 2017

बताया जा रहा है कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पार्टी के वरिष्ठ नेता मणिशंकर अय्यर के पीएम मोदी के बारे में दिए गए आपत्तिजनक बयान से खासे नाराज हैं। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने अय्यर को पीएम मोदी से माफी मांगने को कहा है। राहुल ने साफ किया कि वह इस तरह की भाषा को स्वीकार नहीं करते। उन्होंने कहा कि बीजेपी और प्रधानमंत्री लगातार कांग्रेस पर हमला करने के लिए गलत भाषा का इस्‍तेमाल करते हैं। कांग्रेस पार्टी में अलग तरह की परंपरा और विरासत रही है। मैं पीएम मोदी को संबोधित करने के लिए मणिशंकर अय्यर द्वारा इस्‍तेमाल की गई भाषा और तरीके का समर्थन नहीं करता। कांग्रेस और मैं दोनों चाहते हैं कि जो भी उन्‍होंने कहा उसके लिए वो माफी मांगें। 

भाजपा और PM ने कांग्रेस पर हमला करते हुए अक्सर अभद्र भाषा का प्रयोग किया है। कांग्रेस की संस्कृति और विरासत अलग है। श्री मणिशंकर अय्यर ने भारत के प्रधानमंत्री के लिए जिस लहजे और भाषा का प्रयोग किया है वह गलत है। कांग्रेस और मैं चाहते हैं कि वो अपने बयान के लिए माफ़ी मांगे।

 
हालांकि विवाद बढ़ता देख उन्होंने इस पर सफाई दी और कहा कि मुझे अच्छे से हिंदी नहीं आती। अगर इसका मतलब हिंदी में ऐसा होता है तो मैं माफी मांगता हूं। मणिशंकर अय्यर ने कहा, हां मैंने अंग्रेजी तो 'नीच' कहा था। अगर इसका मतलब हिंदी में ऐसा होता है तो मैं माफी मांगता हूं। मैं अच्‍छे से हिंदी नहीं जानता। मैंने एक शब्‍द का इस्‍तेमाल किया जिसके कई मायने निकलते हैं। जो मायना मोदी जी निकाल रहे हैं उससे मेरा कोई सरोकार नहीं है।

दरअसल नेहरू गांधी परिवार पर परोक्ष निशाना साधते हुए पीएम मोदी ने गुरुवार को कहा कि बाबा साहब भीमराव अंबेडकर के जाने के बरसों बाद तक राष्ट्र निर्माण में उनके योगदान को मिटाने के प्रयास किए जाते रहे, लेकिन जिस ‘परिवार’ के लिए ये सब किया गया, उस परिवार से कहीं ज्यादा लोग आज बाबा साहेब से प्रभावित हैं। इस पर पलटवार करते हुए कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर सारी मर्यादा लांघ गए पीएम मोदी कोअपशब्‍द कहे थे। मणिशंकर अय्यर ने कहा कि अंबेडकर जी की सबसे बड़ी ख्‍वाहिश को साकार किया जवाहर लाल नेहरू ने. इस परिवार के बारे में ऐसी गंदी बात कहीं, जबकि अंबेडकर जी की याद में एक इमातर का उद्घाटन हो रहा है यहां। मुझे लगता है ये आदमी बहुत 'नीच' किस्‍म का है। इसमें कोई सभ्‍यता नहीं है। ऐसे मौके पर ऐसी गंदी राजनीति की क्‍या आवश्‍यकता है।

उधर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मणिशंकर अय्यर की टिप्‍पणी पर प्रतिक्रिया व्‍यक्‍त करते हुए कहा कि श्रीमान मणिशंकर अय्यर ने कहा कि मोदी तो 'नीच' जाति का है। मोदी तो नीच है। यह गुजरात का अपमान है, भारत की महान परंपरा का अपमान है। अरे ये तो मुगलई मानसिकता है, ऊंच नीच का संस्‍कार हिंदुस्‍तान में नहीं है।

Related news

Don’t miss out

News