माओ की बराबरी करेंगे जिनपिंग, बनेंगे CPC के अजीवन चेयरमैन!

दुनिया | Oct. 16, 2017, 8 p.m.


नई दिल्ली (16 अक्टूबर): कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना (CPC) 18 अक्टूबर से अपनी 19वीं नेशनल कांग्रेस का आयोजन करने जा रही है। जिसमें शी जिनपिंग फिर पार्टी नेता चुने जा सकते है और उनका एक बार फिर राष्ट्रपति बनना तय है।

सीपीसी इस बार पार्टी के संविधान में कुछ बदलाव कर सकती है। इसके तहत संविधान में संशोधन कर जिनपिंग के विचारों को शामिल किया जा सकता है। अगर ऐसा होता है, तो जिनपिंग, माओ त्से तुंग और जियाओपिंग जैसे नेताओं की बराबरी करेंगे। बता दें कि चीन में अभी मार्क्सिज्म-लेनिनिज्म, माओ थॉट, देंग जियाओपिंग थ्योरी को फॉलो किया जाता है।

चीन में नेशनल कांग्रेस के आयोजन से पहले 11 से 14 अक्टूबर तक सीपीसी की सेंट्रल कमेटी की बैठक हुई। जिसमें जिनपिंग ने अपने कई करीबियों को पार्टी में अहम जिम्मेदारियां दी। जिनपिंग 2012 में सत्ता में आए थे। चीन में उनका प्रभाव लगातार बढ़ता जा रहा है। जिनपिंग को 'कोर लीडर ऑफ चाइना' का टाइटल मिला है।

चीन में जियांग के 'थ्री रिप्रेजेंट्स' और हू के विचार 'साइंटिफिक आउटलुक' का काफी प्रभाव है, लेकिन अभी तक इन्हें सीपीसी के संविधान में शामिल नहीं किया गया। ऐसे में सीपीसी द्वारा जिनपिंग के विचारों को संविधान में शामिल करने की पहल से चीन में जिनपिंग के बढ़ते कद का अंदाजा लगाया जा सकता है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ऐसा माना जा रहा है कि नेशनल कांग्रेस में जिनपिंग को सीपीसी का आजीवन चेयरमैन घोषित किया जा सकता है। यह पद अब तक माओ को दिया गया है।

Related news

Don’t miss out

News