युद्ध नहीं भारत से दोस्ती करना चाहता है चालबाज चीन !

देश | Aug. 12, 2017, 9:41 a.m.


नई दिल्ली (12 अगस्त):
डोकलाम में पिछले दो महीने से भारत और चीन की सेना टेंट लगाकर एक दूसरे के सामने डटी है। इन सबके बीच चीन लगातार भारत को बर्बाद करने और युद्ध की धमकी दे रहा है। लेकिन भारत के उपर अपनी गीदड़ भभकी का असर नहीं होता देख ड्रैगन के सूर अब थोड़े नरम पड़ते दिख रहे हैं। डोकलाम को लेकर भारत से जारी तनाव के बीच चीन ने कहा कि हमारे बड़े हथियार सिर्फ खिलौने नहीं हैं। चीन ने हालांकि इसके साथ ही कहा कि उसकी नौसेना हिंद महासागर की सुरक्षा बरकरार रखने के लिए भारतीय नेवी से हाथ मिलाना चाहती है।


आपको बता दें कि दोनों देशों के बीच डोकलाम में करीब दो महीने से तनाव चल रहा है। दोनों देशों की सेनाएं एक-दूसरे के सामने खड़ी है। चीन के एसएसएफ के जनरल ऑफिस के उप प्रमुख कैप्टन लियांग तियानजुन ने कहा, 'मेरी राय है कि चीन और भारत हिंद महासागर की संरक्षा एवं सुरक्षा के लिए संयुक्त तौर पर योगदान कर सकते हैं।' उन्होंने यह टिप्पणी ऐसे समय में की जब चीन की नौसेना अपनी वैश्विक पहुंच बढ़ाने के लिए बड़े पैमाने पर विस्तारवादी रवैया अपना रही है।
 

Related news

Don’t miss out

News