वियतनाम ने भारत को दिया साउथ चाइना सी में निवेश का न्योता, चीन भड़का

दुनिया | Jan. 11, 2018, 6:37 p.m.

नई दिल्ली(11 जनवरी): साउथ चाइना सी में भारत को वियतनाम से मिले इन्वेस्टमेंट के लिए न्योते पर चीन भड़क गया है। चीन ने कहा है कि हमारे पड़ोसी को डेवलपमेंट करने का हक है लेकिन वह हमारे मामले में दखलअंदाजी न करे। ब

- बता दें कि साउथ चाइना सी के बड़े हिस्से पर चीन अपना अधिकार मानता है। वह साउथ चाइना सी के विवादित आइलैंड्स पर कई डेवलपमेंट्स मसलन एयरोस्ट्रिप बना चुका है।

- न्यूज एजेंसी की खबर के मुताबिक वियतनाम के भारत में एम्बेसडर तोन सिन्ह तान्ह ने एक चैनल को बताया था कि उनके देश ने भारत को साउथ चाइना सी में इन्वेस्टमेंट के लिए बुलाया है।

- तोन ने ये भी कहा कि भारत और वियतनाम के बीच डिफेंस कोऑपरेशन एक अहम कड़ी है। ये हमारी ताकत बढ़ाने के लिए कारगर साबित होगा।

- चीन की फॉरेन मिनिस्ट्री के स्पोक्सपर्सन लू कांग ने कहा कि हमारे पड़ोस में कोई देश डेवलपमेंट के लिए किसी अन्य देश की मदद लेता है तो इसमें कोई आपत्ति नहीं है।

- "लेकिन कोई देश विकास के नाम पर साउथ चाइना सी में घुसपैठ करता है तो इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। साउथ चाइना सी पर हमारा हक है। अगर ऐसा होता है तो यह क्षेत्र की शांति और स्थिरता के लिए अच्छा नहीं होगा।''

- वियतनाम का दावा है कि चीन कई सालों से साउथ चाइना सी में भारत के ऑयल एंड नेचुरल गैस कॉर्पोरेशन के तेल की खोज करने का विरोध करता रहा है।

- वहीं भारत कहता रहा है कि ONGC कमर्शियल ऑपरेशन चलाता है। उसका किसी विवाद से लेना-देना नहीं है।

- बता दें कि साउथ चाइना सी में तेल निकालना चीन-वियतनाम के लिए एक संवेदनशील मसला है। जब चीन ने वियतनाम के दावे वाले समुद्री इलाके में तेल निकालने वाले इक्विपमेंट्स भेजे थे तो वियतनाम में चीन विरोधी दंगे हो गए थे।

Related news

Don’t miss out

News