जानिए, दिवाली के बाद आपके इलाके में कितना बढ़ा प्रदूषण...

देश | Oct. 20, 2017, 10:31 a.m.


नई दिल्ली (20 अक्टूबर): सुप्रीम कोर्ट की पाबंदी के बाद दिल्ली-एनसीआर में दिवाली को पटाखों की धमक सुनाई दी। हालांकि यह पिछली बार से कम थी, लेकिन फिर भी हवा में जहर घुला। राहत की बात यह रही कि बैन के कारण प्रदूषण का यह स्तर पिछली दिवाली की तुलना में कुछ कम रहा है।

सेंट्रल पलूशन कंट्रोल बोर्ड (CPCB) के आंकड़ों के अनुसार गुरुवार को एयर क्वॉलिटी इंडेक्स 319 था, जो 'काफी खराब' स्थिति है, लेकिन पिछले साल दिवाली पर (30 अक्टूबर) हालात ज्यादा ही खराब थे। पिछले साल इंडेक्स 431 पर पहुंच गया था।

दिवाली के बाद आपके इलाके का हाल...

- लोधी रोड इलाके में PM10 का स्तर 5 गुना बढ़ गया।
- पंजाबी बाग में PM10 का स्तर 6 गुना बढ़ा।

- शाहदरा में PM10 का स्तर 7 गुना बढ़ा पाया गया।
- दिल्ली के आनंद विहार में जहां प्रदूषण सामान्य से 24 गुना बढ़ गया।
- इंडिया गेट के आसपास के इलाके में पलूशन का लेवल 15 गुना अधिक पाया गया।
- दिल्ली के शादीपुर में पलूशन खतरनाक स्तर पर पहुंच गया। यहां एयर क्वॉलिटी इंडेक्स 420 पर जा पहुंचा।
- आरके पुरम मॉनिटरिंग स्टेशन ने रात 11 बजे PM2.5 और PM10 क्रमश: 878 और 1,179 माइक्रोग्राम/क्यूबिक रेकॉर्ड किया गया।

गौरतलब है कि एयर क्वॉलिटी इंडेक्स (AQI) अगर 0-50 हो तो इसे अच्छी स्थिति मानी जाती है, 50-100 हो तो इसे संतोषजनक कहा जा सकता है। हालांकि इसके आगे AQI बढ़कर अगर 101-150 के आंकड़े को छूता है तो इससे सामान्य लोगों को तो नहीं पर बीमार खास तौर से बुजुर्ग व सांस के रोगियों की परेशानी बढ़ सकती है। 151 से 200 पहुंचने पर यह स्वास्थ्य के लिए खतरनाक हो सकता है। 201-300 का स्तर काफी खतरनाक होता है। 300 से ऊपर AQI पहुंचने पर यह इमर्जेंसी की स्थिति बन जाती है और सरकार एवं एजेंसियों की ओर से प्रदूषण का स्तर कम करने के लिए कदम उठाने पड़ते हैं।

Related news

Don’t miss out

News