2 साल या उससे अधिक की सजा वाले MP, MLA के चुनाव लड़ने पर लगे रोक



नई दिल्ली (20 मार्च): चुनाव आयोग ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दायर करके कहा है कि एमपी और एमएलए जिनके खिलाफ 2 साल या इससे अधिक की सजा हुई है उन पर चुनाव लड़ने पर आजीवन प्रतिबंध लगाया जाए। चुनाव आयोग की ओर से सुप्रीम कोर्ट में दाखिल याचिका में मांग की गयी थी कि सजायाफ्ता जनप्रतिनिधि को आजीवन चुनाव लड़ने पर रोक लगाई जाए। चुनाव आयोग का मानना है कि इससे राजनीति में अपराधीकरण पर लगाम लगाया जा सकेगा।


फिलहाल जनप्रतिनिधियों के मामले में सजा मिलने पर 6 साल चुनाव लड़ने पर रोक है। याचिकाकर्ता ने याचिका में दावा किया था जब नौकरशाह और न्यायिक अधिकारियों को सजा मिलने के बाद उन्हें ताउम्र नौकरी से बाहर किया जाता है तो नेताओं पर ये नियम क्यों नहीं लागू होगा। उम्मीदवार की चुनाव लड़ने के न्यूनतम शिक्षा और अधिकतम आयु सीमा तय करने पर चुनाव आयोग में कहा है कि ये संसद तय करे।

Breaking News