अयोध्या विवाद: हल निकालने के लिए शिया वक्फ बोर्ड ने ड्राफ्ट के पृष्ठ को किया जारी

देश | Nov. 15, 2017, 12:28 p.m.

नई दिल्ली(15 नवंबर): रामजन्मभूमि-बाबरी विवाद का आपसी बातचीत से हल निकालने की दिशा में सक्रिय उत्तर प्रदेश शिया वक्फ बोर्ड ने इस सिलसिले में तैयार किये जा रहे समझाौता प्रस्ताव पत्र का आवरण पृष्ठ जारी किया।

- बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी ने बताया कि उन्होंने अयोध्या के विवादित स्थल मामले के परस्पर सहमति से हल के प्रयास के तहत तैयार किये गये समझाौता प्रस्ताव का आवरण पृष्ठ जारी किया है।

- एक रास्ता एकता की ओर शीर्षक वाले इस मसविदा प्रस्ताव के आवरण पृष्ठ पर प्रस्तावित राम मंदिर के साथ-साथ एक मस्जिद की भी तस्वीर है। इसमें तिलक लगाये एक व्यक्ति और टोपी पहने शख्स को गले मिलते दिखाया गया है।

- रिजवी ने हालांकि प्रस्ताव के मसविदे की सामग्री के बारे में विस्तार से कुछ नहीं बताया और कहा कि इस प्रस्ताव को जल्द ही अंतिम रूप दे दिया जाएगा।

- मालूम हो कि रिजवी इस वक्त उच्चतम न्यायालय में विचाराधीन रामजन्मभूमि-बाबरी विवाद का आपसी बातचीत से हल निकालने के लिये सभी पक्षकारों से बात कर रहे हैं। 

- उनका दावा है कि विवादित स्थल पर अपना हक जता रहे सुन्नी वक्फ बोर्ड का पंजीकरण उच्च न्यायालय और उच्चतम न्यायालय से खारिज हो चुका है। लिहाजा अब मस्जिद पर उसका कोई दावा नहीं है।

- उन्होंने कहा कि चूंकि बाबरी मस्जिद मीर बाकी नामक शिया मुसलमान ने बनायी थी, इसलिये अब उस जगह पर शिया मुस्लिमों का हक है। शिया वक्फ बोर्ड इसी अधिकार से इस मामले में विभिन्न पक्षकारों से बात कर रहा है।
 

Related news

Don’t miss out

News