पाक में घुसकर परमाणु झांसे का जवाब देने को तैयार है सेना: आर्मी चीफ

देश | Jan. 13, 2018, 9:01 a.m.

नई दिल्ली ( 13 जून ): सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने कहा कि पाकिस्तान के सीजफायर उल्लंघनों का सेना करारा जवाब दे रहे हैं। हमारा लक्ष्य पाकिस्तान को आतंकी समूहों के समर्थन के दुष्परिणाम महसूस कराना है और सेना पाकिस्तान के परमाणु हथियारों के झांसे का जवाब देगी। इसके अलावा  जनरल रावत ने कहा कि वहां से मिल रही परमाणु धमकी महज भभकी है। सेना दिवस से पहले सेना प्रमुख ने शुक्रवार को राजधानी में एक प्रेस वार्ता में में यह बातें कहीं।

जनरल रावत ने कहा कि हम इस बात को लेकर अपनी जिम्मेदारी निभाने से नहीं हिचकेंगे कि पाकिस्तान के पास परमाणु हथियार हैं। पाकिस्तान के साथ लगी सीमा पर सीजफायर टूटने के मामले पर जनरल रावत ने कहा, 'हमारे यहां जितनी कैजुअल्टी हुई हैं, पाकिस्तान की ओर 3 से 4 गुना ज्यादा कैजुअल्टी हुई हैं। तभी पाकिस्तान की ओर से बार-बार यह संदेश आ रहा है कि 2003 में हुई सीजफायर की स्थिति को कायम किया जाए।' उन्होंने कहा कि पाक को सीमापार आतंकवाद के मामले में चीन का सीधा सपॉर्ट होने के संकेत नहीं मिले हैं। पाकिस्तानी सेना के लोगों को चीन में जैविक हमले की ट्रेनिंग मिलने की रिर्पोटों पर जनरल रावत ने कहा कि हम डर्टी वॉर से निपटने के लिए तैयारी कर रहे हैं। 

जनरल रावत ने कहा, 'हमारा रुख पाकिस्तानी सेना को दुष्परिणाम महसूस कराना है। जब तक पाकिस्तान दुष्परिणाम महसूस नहीं करता, वह आतंकियों को भेजता रहेगा, जो उनके लिए उपयोग कर फेंकने लायक सामान हैं।' इसके अलावा सेना प्रमुख ने कहा कि हम पाकिस्तान की परमाणु हथियारों की बातों को चुनौती देंगे। उन्होंने कहा, 'अगर हमें वाकई पाकिस्तानियों का सामना करना पड़ा और सीमा पार करने का काम मिला तो हम यह नहीं कहेंगे कि हम सीमा पार नहीं कर सकते क्योंकि उनके पास परमाणु हथियार हैं। हमें उनकी परमाणु हथियारों की बातों को धता बताना होगा।'

Related news

Don’t miss out

News