पाकिस्तान ने जल्दी ही टेक दिये घुटने वरना अंजाम लादेन से भी बुरा होता...!

दुनिया | Oct. 20, 2017, 5:40 a.m.

नई दिल्ली (20 अक्टूबर): कहा जा  रहा है  कि पिछले हफ्ते पाकिस्तान ने तालिबान के हक्कानी नेटवर्क की कैद से अमेरिकी-कनाडाई कपल को छुड़ाया था। लेकिन अमेरिका ने पाकिस्तान की कार्रवाई से पहले ही इस मिशन की पूरी तैयारी कर ली थी। अमेरिकी जांच एजेंसी सीआईए के ड्रोन ने कुछ दिनों पहले पाकिस्तान के उत्तरी पश्चिम क्षेत्र में उड़ान के दौरान कुछ संदिग्ध तस्वीरें ली थी।  सीआईए को जो तस्वीरें प्राप्त हुई थी उनमें एक आतंकी कैंप में एक महिला और बच्चे नजर आ रहे थे। जांच के बाद पता चला कि यह तस्वीर उस महिला की है जो पांच साल पहले अफगानिस्तान से अपने कनाडाई पति के साथ लापता हुई थी। 

एक अमेरिकी अधिकारी के मुताबिक जानकारी मिलने के बाद अमेरिकी सेना के नेवी सील की टीम 6 को इस मिशन के लिए तैयार किया गया। इस टीम में ट्रेंड कमांडो शामिल थे। हालांकि यह मिशन काफी खतरनाक था और चिंताओं से भरा हुआ था। इसके देखते हुए पाकिस्तान में मौजूद अमेरिकी राजदूत ने पाकिस्तान सरकार से बात की।  उन्होंने पाकिस्तान सरकार से कहा कि वह इस मुद्दे को हल करे, या फिर अमेरिका खुद इस मसले को हल करेगा।

इस संदेश से अमेरिका ने अपना रूख साफ कर दिया कि यदि पाकिस्तान कार्रवाई नहीं करता है तो अमेरिका उसे एक तरफ करते हुए खुद ही मैदान में कूद पड़ेगा। अगर ऐसा होता तो यह पाकिस्तान सरकार के अपमान का एक और मौका होता। इससे पहले अमेरिका ने पाकिस्तान सरकार को बिना जानकारी दिए ही उनके देश में घुसकर ओसामा बिन लादेन और मुल्ला मंसूर को मार गिराया था। अमेरिकी संदेश से पाकिस्तानी सरकार के हाथ-पैर फूल गये और पाकिस्तान सरकार ने एक तरह से अमेरिका के आगे घुटने टेककर आतंकियों के खिलाफ कारर्वाई न करने की गुहार लगाई और उसके बाद पाकिस्तान ने आनन-फानन में अमेरिकी-कनाडाई दंपति को हक्कानी नेटवर्क से मुक्त करवा दिया। 

 

Related news

Don’t miss out

News