Download app
We are social

नंदन नीलेकणी ने कहा, आधार कार्ड से भारत सरकार के 9 अरब डॉलर बचे

नई दिल्ली ( 13 अक्टूबर ): आधार कार्ड के जनक नंदन नीलेकणी ने आधार कार्ड को लकेर बड़ा बयान दिया है। नीलेकणी का कहना है कि भारत सरकार की आधार कार्ड स्कीम ने करीब 1 बिलियन लोगों को जोड़ा है जिससे सरकारी खजाने के 9 अरब डॉलर बचे हैं।

इस योजना को यूपीए सरकार ने लॉन्च किया था, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसे काफी जोरशोर से सपोर्ट किया। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक नीलेकणी ने ये बातें वर्ल्ड बैंक पैनल में डिजिटल इकोनॉमी पर चर्चा के दौरान कही। नीलेकणी ने कहा कि विकासशील देशों के लिए डिजिटल इंफ्रास्ट्रक्चर बनाना आसान है। आधार कार्ड अब 100 करोड़ लोगों के पास है।

नीलेकणी ने कहा कि आधार कार्ड के यूनिक नंबर होने के कारण अब आप लोगों की पहचान कर सकते हो जिससे पैसा सीधे उनके खाते में जाता है। उन्होंने कहा कि लगभग 50 करोड़ लोगों ने अपनी आईडी को बैंक खाते से जोड़ दिया है। भारत सरकार लगभग 12 बिलियन डॉलर सीधा बैंक खातों में भेज रही है जो कि दुनिया का सबसे बड़ा कैश ट्रांसफर सिस्टम है।

कार्यक्रम में नीलेकणी ने कहा कि डाटा इकोनॉमी के क्षेत्र में आइडेंटिटी, पेपरलेस ट्रांजैक्शन का होना काफी जरूरी है। यही काम भारत कर रहा है।

Related news

Don’t miss out