इस सेक्टर में गई 75,000 लोगों की नौकरी

देश | Nov. 15, 2017, 11:30 a.m.

नई दिल्ली(15 नवंबर): पिछले एक साल में टेलिकॉम सेक्टर में लगभग 75,000 लोगों को नौकरी गंवानी पड़ी है। इस दौरान टेलिकॉम कंपनियों, टावर फर्मों और वेंडर्स के बीच कंसॉलिडेशन बढ़ा है। 

- इस इंडस्ट्री में एंप्लॉयी कॉस्ट 4-5 पर्सेंट ही होती है, लेकिन पिछले कुछ साल के दौरान उनकी सैलरी में तेजी से बढ़ोतरी हो रही थी। अब कंपनियों के सामने खर्च कम करने की चुनौती है तो उसकी पहली गाज एंप्लॉयीज पर गिर रही है।

-कुछ टेलिकॉम कंपनियां बंद हुई हैं, कुछ ने कामकाज घटाया है तो कुछ परमानेंट और कॉन्ट्रैक्ट पर काम करने वाले एंप्लॉयीज को बाहर का रास्ता दिखा रही हैं। साल भर पहले की तुलना में इस सेक्टर में अब 75 पर्सेंट वर्कफोर्स ही बचा है। इतना ही नहीं, आने वाले समय में और छंटनी की आशंका बनी हुई है। 

- सर्च फर्म एमा पार्टनर्स के पार्टनर ए रामचन्द्रन ने बताया, 'तीन साल पहले इस क्षेत्र में तीन लाख कर्मचारी थे। पिछले 12 महीने में उनमें से 25 पर्सेंट निकाले जा चुके हैं।' ज्यादातर मामलों में कर्मचारी को कुछ महीने पहले सूचना दे कर निकाला गया, जबकि कुछ मामलों में उन्हें 3-6 का महीनों का वेतन देकर हटाया गया।

- रामचन्द्रन ने बताया कि वेंडर कंपनियों में काम करने वाले 35-40 पर्सेंट कर्मचारियों ने इस सेक्टर को छोड़ दिया है। इस बीच, टेलिकॉम ऑपरेटर्स ने भी 25-30% कर्मचारियों को निकाला। अब इंडस्ट्री में 2.25 लाख कर्मचारी बचे हैं। कुछ टेलिकॉम कंपनियों का मर्जर होना है। इसके बाद एंप्लॉयीज की संख्या में और कमी आएगी।
 

Related news

Don’t miss out

News